--Advertisement--

तोगड़िया से हॉस्पिटल में मिलने पास-कांग्रेस नेताओं की लगी लाइन, बीजेपी ने बनाई दूरी

क्राइम ब्रांच ने तोगड़िया के एनकाउंटर की आशंका को गलत बताया।

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 06:36 AM IST
हार्दिक ने मोदी-शाह का षड‌्यंत्र बताया हार्दिक ने मोदी-शाह का षड‌्यंत्र बताया

अहमदाबाद. शाहीबाग के चंद्रमणी हॉस्पिटल में डॉ. तोगड़िया ने प्रेस कांफ्रेंस की। इसके बाद अचानक पूर्व डीजीपी जीडी वंजारा, पास नेता हार्दिक पटे, दिनेश बांभणिया, चिराग पटेल, कांग्रेस नेता अर्जुन मोढ़वाडिया के अलावा बीजेपी के पूर्व प्रदेश प्रमुख राजेन्द्रसिंह राणा उनसे मिलने पहुंच गए। पास-कांग्रेस के नेताओं के तोगडिया से मिलने की दिनभर चर्चा होती रही जबकि बीजेपी दूरी बनाए रही और एक भी नेता मिलने नहीं आए।

डीजी वंजारा बोले- तोगड़िया उनके दोस्त इसलिए मिलने आया
- तोगड़िया ने कॉन्फ्रेंस कर आपबीती का खुलासा करते हुए एनकाउंटर की आशंका जाहिर की। वहीं क्राइम ब्रांच ने तोगड़िया के दावे को गलत बताया है। इसपर कांग्रेस नेता अर्जुन मोढ़वाड़िया ने कहा कि इस मामले की बारीकी से जांच होनी चाहिए।

- वहीं, डीजी वंजारा ने कहा कि तोगड़िया उनके दोस्त हैं इसलिए मिलने आए थे।

- हार्दिक ने मुलाकत के बाद मीडिया से बातचीत में कहा कि तोगड़िया के खिलाफ साजिश रची जा रही है। उन्होंने कहा कि साजिश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह रच रहे हैं। लापता होने के बाद हार्दिक ने ट्वीट कर तोगड़िया का सपोर्ट करते हुए मोदी और बीजेपी पर निशाना भी साधा था।

- बता दें कि तोगडिया सोमवार को लापता हो गए थे और बाद में बेहोशी की हालत में पाये गए थे। तोगड़िया की स्थिति में अब कुछ सुधार है। मंगलवार को तोगड़िया से पास और कांग्रेस ने नेताओं ने मुलाकात की।

तोगड़िया से कौन-कौन मिलने आया

तोगड़िया से मिलने वालों में डीजी वंजारा, पूर्व डीजीपी, हार्दिक पटेल पास, दिनेश बांभणिया, सीपी स्वामी, स्वामीनारायण मंदिर, गढडा, अर्जुन मोढवाडिया, कांग्रेस नेता, राजेन्द्रसिंह राणा, पूर्व बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष, राघव रेड्‌डी, विहिप के राष्ट्रीय अध्यक्ष।

टाइम लाइन

सुबह : 11.8 बजे कार्यालय से निकले
सुबह : 11.31 बजे घनश्याम के घर पहुंचे
दोपहर : 2.00 बजे तोगड़िया को उतारकर धीरूभाई नेहरूनगर अाकर फोन की स्विच ऑफ कर दी
शाम : 7.52 बजे घनश्यामभाई अपने ड्राइवर निकुल को फोन करके बुलाते हैं
रात : 8.33 बजे सरदार नगर पहुंचे इसके बाद ड्राइवर के फोन से 108 को फोन करके मदद मांगी

ताेगड़िया हुए भावुक

तोगड़िया ने कहा मैंने कोई अनैतिक काम नहीं किया है। मैं कानून का पालन करुंगा। मेरा जीवन रहे या न रहे, मैं राम मंदिर गोरक्षा के लिए अकेला लड़ना पडे तो लड़ता रहूंगा। संवाददाता सम्मेलन के दौरान तोगडिया भावुक हो गए थे ।

लापता होने के 12 घंटे बाद सोमवार शाम प्रवीण तोगड़िया बेहोशी की हालत में मिले थे। किसी अनजान शख्स ने उन्हें सड़क पर बेहोशी की हालत में पड़े देखकर एम्बुलेंस बुलाकर अस्पताल पहुंचाया था। लापता होने के 12 घंटे बाद सोमवार शाम प्रवीण तोगड़िया बेहोशी की हालत में मिले थे। किसी अनजान शख्स ने उन्हें सड़क पर बेहोशी की हालत में पड़े देखकर एम्बुलेंस बुलाकर अस्पताल पहुंचाया था।