--Advertisement--

नीरव मोदी का सूरत में है 3500 करोड के टर्न ओवर का साम्राज्य

30 साल पहले नीरव के पिता का हीरे के धंधे में दिवाला निकल गया था।

Dainik Bhaskar

Feb 16, 2018, 05:31 PM IST
सूरत में नीरव की ऑफिस एवं फैक्टरी में ईडी की रेड, 770 करोड़ की ज्वेलरी सीज की गई। सूरत में नीरव की ऑफिस एवं फैक्टरी में ईडी की रेड, 770 करोड़ की ज्वेलरी सीज की गई।

सूरत। पंजाब नेशनल बैंक के साथ 11 हजार करोड़ रुपए से भी अधिक का घोटाला करने वाला अरबपति ज्वेलर नीरव मोदी के सूरत में तीन स्थानों पर ईडी ने छापा मारा। इसमें 770 करोड़ से भी अधिक की ज्वेलरी सीज की। सूरत में नीरव के 3500 करोड़ टर्न ओवर वाला साम्राज्य फैला हुआ है। नीरव की कंपनी का अधिकांश काम मुम्बई से होने के कारण सूरत और गुजरात को इस घोटाला का कुछ तो असर होगा। व्यक्तिगत रूप से कोई सामने नहीं आया…

जीजेइपीसी के रीजनल हेड दिनेश नावडिया ने बताया कि पीएनबी घोटाले में इस समय केवल बैंक के रुपए का ही मामला सामने आया है। इस पर कोई व्यक्तिगत रूप से कोई सामने नहीं आया है। जिसे नीरव से रुपए लेने हों। अभी तक मामला बैंक तक ही सीमित है। इसका असर बाजार में किस तरह से पड़ेगा, यह कहना अभी जल्दबाजी होगी।

घोटाले में केवल बैंक के ही रुपए हैं-बाबूभाई

सूरत डायमंड एसोसिएशन के अध्यक्ष बाबूभाई गुजराती ने कहा कि मुम्बई में भी जांच चल रही है। अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है कि किसी के रुपए डूबे हों। पीएनबी घोटाले में बैंक का ही रुपया है। अब बैंक डायमंड व्यापारियों को लोन देते समय कुछ सोचेगी। संभवत: वह अपनी सिक्योरिटी पॉलिसी ही बदल दे। डायमंड के इस धंधे में बैंक का लोन बहुत ही महत्वपूर्ण है, यदि इस दिशा में बैंक सख्त होती है, तो इसका असर उद्योग पर पड़ेगा, यह तय है।

सूरत-गुजरात के बाजारों में कम असर

नीरव का 90 प्रतिशत कामकाज मुम्बई से होता है, सूरत का मार्केट रफ का है। यदि असर होता है, तो मुम्बई में देखने को मिलेगा। गुजरात के बाजारों में इसका कम ही असर दिखाई देगा। उधर नीरव की यूनिट में दूसरे दिन भी जांच जारी है। ईडी के अधिकारी रात में भी रुककर जांच कर रहे हैं। तमाम फाइलों एवं दस्तावेज की बारीकी से जांच की जा रही है।

30 साल पहले नीरव के पिता का दिवाला निकला था

हीरा बाजार के सूत्रों के अनुसार नीरव मोदी की दो यूनिट सचिन में है। नीरव के पिता ने सूरत में हीरे का व्यवसाय शुरू किया था, तीस साल पहले उनका दिवाला निकल गया था। उसके बाद ही पूरा परिवार एंटवर्प चला गया।

सूरत और गुजरात को यह घोटाला अधिक प्रभावित नहीं करेगा। सूरत और गुजरात को यह घोटाला अधिक प्रभावित नहीं करेगा।
नीरव की कंपनी का अधिकांश काम मुम्बई में होता है। नीरव की कंपनी का अधिकांश काम मुम्बई में होता है।
सचिन में नीरव की फैक्टरी में मेन्युफेक्चरिंग होता है। सचिन में नीरव की फैक्टरी में मेन्युफेक्चरिंग होता है।
नीरव पोलिश्ड डायमंड बेचने वालों को असर पहुंचने की संभावना। नीरव पोलिश्ड डायमंड बेचने वालों को असर पहुंचने की संभावना।
X
सूरत में नीरव की ऑफिस एवं फैक्टरी में ईडी की रेड, 770 करोड़ की ज्वेलरी सीज की गई।सूरत में नीरव की ऑफिस एवं फैक्टरी में ईडी की रेड, 770 करोड़ की ज्वेलरी सीज की गई।
सूरत और गुजरात को यह घोटाला अधिक प्रभावित नहीं करेगा।सूरत और गुजरात को यह घोटाला अधिक प्रभावित नहीं करेगा।
नीरव की कंपनी का अधिकांश काम मुम्बई में होता है।नीरव की कंपनी का अधिकांश काम मुम्बई में होता है।
सचिन में नीरव की फैक्टरी में मेन्युफेक्चरिंग होता है।सचिन में नीरव की फैक्टरी में मेन्युफेक्चरिंग होता है।
नीरव पोलिश्ड डायमंड बेचने वालों को असर पहुंचने की संभावना।नीरव पोलिश्ड डायमंड बेचने वालों को असर पहुंचने की संभावना।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..