Hindi News »Gujarat »Surat» Railway Clerk And Painter Satendra Sharma S Painting At Surat Station

अब तक चार स्टेशनों पर उकेर चुके हैं कलाकृतियां, अब सूरत को सजाएंगे

बुकिंग क्लर्क को स्केच बनाते देखा तो रेल अधिकारी ने कहा- मेरा पोट्रेट बना सकते हो?, तब से अब तक चार स्टेशनों पर उकेर चुक

लवकुश मिश्रा | Last Modified - Mar 05, 2018, 05:04 AM IST

  • अब तक चार स्टेशनों पर उकेर चुके हैं कलाकृतियां, अब सूरत को सजाएंगे
    +1और स्लाइड देखें

    सूरत. सूरत और उधना रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म और वेटिंग रूम की दीवारों पर उकेरी गई मनमोहक कलाकृतियां किसी प्रोफेशनल पेंटर ने नहीं बनाई हैं। यात्रियों की आंखों को सुकून देने वाली ये कलाकृतियां सूरत स्टेशन पर बुकिंग क्लर्क के पद पर कार्यरत सत्येंद्र शर्मा ने बनाई हैं।

    - टिकट निकालते समय कंप्यूटर के की-बोर्ड पर सत्येंद्र शर्मा की अंगुलियां जिस गति से चलती हैं उसी तेजी से वह मनमोहक कलाकृतियां उकेरते हैं। वह अब तक 500 से ज्यादा वॉल पेंटिंग और पोट्रेट बना चुके हैं। पेंटिंग के प्रति उनके जुनून को देखते हुए कई रेलवे स्टेशनों पर वॉल पेंटिंग बनाने का बुलावा आ रहा है।

    - अभी तक वह सूरत, उधना, नंदुरबार और बारडोली जैसे स्टेशनों पर अकेले ही वॉल पेंटिंग कर चुके हैं। उनकी पेंटिंग्स से खुश होकर पश्चिम रेल के महाप्रबंधक 5000 रुपए नकद पुरस्कार दे चुके हैं। अगले महीने सूरत स्टेशन का सौंदर्यीकरण होगा। रेलवे ने सौंदर्यीकरण कार्य का कोऑर्डिनेटर सत्येंद्र शर्मा को चुना है।

    लोग खरीदते हैं पेंटिंग

    सत्येंद्र कहते हैं अब तक मैंने 50 हजार में 10 पेंटिंग्स बेची हैं। यह मेरा शौक है। अब तक सैकड़ों रेल अधिकारियों के स्केच तैयार कर चुका हूं।

    जिम्मेदारी: सूरत स्टेशन पर करेंगे चित्रकारी

    सूरत स्टेशन के निदेशक सीआर गरुड़ ने बताया कि हम 50 हजार रुपए से अगले महीने सूरत स्टेशन के सौंदर्यीकरण और यात्री सुविधा से संबंधित काम कराएंगे। उन्होंने कहा कि इस बार स्टेशन पर चित्रकारी में सत्येंद्र कोऑर्डिनेटर की भूमिका अदा करेंगे। सत्येंद्र ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों ने मुझे मुंबई के भी कई रेल स्टेशनों पर चित्रकारी करने के लिए आमंत्रित किया है।

    मौका: हेड टीसी का बनाया पोट्रेट

    वाराणसी के रहने वाले 35 वर्षीय सत्येंद्र शर्मा की पोस्टिंग 2008 में सूरत स्टेशन पर हुई थी। एक बार हेड बुकिंग क्लर्क ने उनको स्केच बनाते देखा तो कहा मेरी तस्वीर बना सकते हो? सत्येंद्र ने उनका पोट्रेट बनाकर दिया तो वह खुश हो गए। धीरे-धीरे अन्य अधिकारियों ने भी उनसे पोट्रेट बनवाए। बारडोली स्टेशन पर सत्येंद्र ने स्वेच्छा से हिनल, मल्लिका और त्रिपाल की मदद से पेंटिंग्स बनाई।

    शहीदों के लिए बनाएंगे पेंटिंग
    23 मार्च को शहीद दिवस पर सूरत रेलवे स्टेशन पर शहीदों की पेंटिंग डेडिकेट की जाएगी। पेंटिंग बनाने की जिम्मेदारी सत्येंद्र को मिली है। उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए गर्व की बात है, क्योंकि ऐसी जिम्मेदारी किसी बड़े पेंटर को मिलती है।

    महाप्रबंधक ने दिया पुरस्कार
    16 फरवरी 2018 को पश्चिम रेल के महाप्रबंधक अनिल कुमार गुप्ता के वार्षिक निरीक्षण पर आने से पहले सिर्फ तीन घंटे में सत्येंद्र ने उधना स्टेशन की दीवारों पर मनमोहक कलाकृतियां बना दीं। महाप्रबंधक ने उन्हें 5 हजार रुपए पुरस्कार दिया।

  • अब तक चार स्टेशनों पर उकेर चुके हैं कलाकृतियां, अब सूरत को सजाएंगे
    +1और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Surat News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Railway Clerk And Painter Satendra Sharma S Painting At Surat Station
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×