--Advertisement--

11 साल की लड़की की बॉडी में थी दो रीढ़ की हड्डियां, कमर से बाहर निकल आई थी हड्डी

जांच के दौरान आरती को स्पलीट कॉर्ड मालफॉर्मेशन नाम की रेयर बीमारी पाई गई।

Danik Bhaskar | Jan 19, 2018, 05:37 AM IST

अहमदाबाद. ललितपुर-उत्तर प्रदेश की रहने वाली 11 साल की आरती शर्मा इनदिनों अहमदाबाद सिविल हॉस्पिटल में एडमिट हैं। जहां डॉक्टरों ने हाल ही में उसका ऑपरेशन किया। ताज्जुब की बात है कि उसके शरीर में दो रीढ़ की हड्डियां थीं। इस बीमारी को मेडिकल टर्म में ‘स्पलीट कॉर्ड मालफॉर्मेशन’ कहते हैं। अब जिंदगी भर के लिए उसे कमर के दर्द से आज मिल गई है।

लगातार 4घंटे चला ये ऑपरेशन

- सिविल हॉस्पिटल, अहमदाबाद में आरती का इलाज करने वाले न्यूरो सर्जन डॉ. शैलेन्द्र सोलंकी ने बताया कि आरती लगातार कमर दर्द से परेशान थी। हड्‌डी बढ़ने की शिकायत के साथ उसे हॉस्पिटल लाया गया था। जांच के दौरान आरती को स्पलीट कॉर्ड मालफॉर्मेशन नाम की बीमारी पाई गई। यह बहुत ही रेयर होती है।

- वक्त पर सही इलाज न मिलने पर मरीज की कमर के नीचे के हिस्सों में कंट्राेल नहीं रहता। मरीज के डिसेबिलिटी का शिकार होने की आशंका रहती है। डाॅ. जैमिन शाह और डॉ. अंकुर पाचाणी का किया ये ऑपरेशन चार घंटे चला।

10 सेंमी की हड्‌डी और दो रीढ़ का पहला मामला

अहमदाबाद सिविल हॉस्पिटल में इस तरह के ऑपरेशन होते हैं, लेकिन 10 सेमी की हड्‌डी और हड्‌डी के कमर से बाहर निकल आने का यह पहला केस है। लड़की का ऑपरेशन कर दो हिस्सों में बंटी रीढ़ में से हडि्डयां निकाली गईं। इसेक बाद एक कवर बनाकर दोनों हिस्सों में बंटी रीढ़ को जोड़ा गया है।


क्या है स्पलीट कॉर्ड मालफॉर्मेशन

एक लाख बच्चों पर किसी एक बच्चे में यह समस्या होती है। बच्चे के गर्भकाल के दौरान फॉलिक एसिड की कमी या प्रेग्नेंट महिला की कमजाेरी के चलते रीढ़ जुड़ने की प्रॉसेस के दौरान हडि्डयां या कवर रीढ़ को दो हिस्सों में बांट देते हैं।