--Advertisement--

रेप का आरोपी जैन मुनि शांतिसागर तंत्र-वशीकरण विद्या का जानकार

पीड़िता और पुलिस ने एफिडेविट देकर जैन मुनि की जमानत अर्जी का विरोध किया।

Dainik Bhaskar

Jan 24, 2018, 12:34 PM IST
पीड़िता और पुलिस ने एफिडेविट देकर जैन मुनि की जमानत अर्जी का विरोध किया। पीड़िता और पुलिस ने एफिडेविट देकर जैन मुनि की जमानत अर्जी का विरोध किया।

सूरत। वडोदरा की 19 वर्षीय स्टूडेंट ने रेप करने वाले जैन मुनि की जमानत के खिलाफ एफिडेविट पेश करते हुए कहा है कि वह तंत्र विद्या का जानकार है, यदि उसे जमानत मिल गई, तो मेरी सुरक्षा के सामने गंभीर प्रश्न खड़ा हो जाएगा। अतएव उसे किसी भी हालत में जमानत न दी जाए। इस मामले की मंगलवार को सुनवाई थी। अगली सुनवाई 29 जनवरी को होगी। जैन मुनि भाग सकता है…

उधर पुलिस ने यह आशंका व्यक्त की है कि जमानत मिलने पर जैन मुनि कहीं भी भाग सकता है। इसकी पूरी संभावना है। वह इस राज्य का निवासी नहीं है, इसलए कोर्ट में ट्रायल के समय वह हाजिर नहीं रह सकता। इसलिए उसके भागने की पूरी संभावना है।

दुष्कर्म के कारण सख्त शारीरिक यातना भोगी है

पीड़िता का कहना था कि दुष्कर्म के कारण उसे सख्त शारीरिक यातना भोगी है। मैं इतनी भयभीत हूं कि डॉक्टर का इलाज लेना पड़ रहा है। उसने जिस तरह से मुझे धमकी देकर मेरा शारीरिक शोषण किया है, उससे मैं काफी आहत हूं।

दुष्कर्म के कारण सख्त शारीरिक-मानसिक यातना झेली है। दुष्कर्म के कारण सख्त शारीरिक-मानसिक यातना झेली है।
आरोपी ने धर्म के नाम पर पाखंड किया है। आरोपी ने धर्म के नाम पर पाखंड किया है।
X
पीड़िता और पुलिस ने एफिडेविट देकर जैन मुनि की जमानत अर्जी का विरोध किया।पीड़िता और पुलिस ने एफिडेविट देकर जैन मुनि की जमानत अर्जी का विरोध किया।
दुष्कर्म के कारण सख्त शारीरिक-मानसिक यातना झेली है।दुष्कर्म के कारण सख्त शारीरिक-मानसिक यातना झेली है।
आरोपी ने धर्म के नाम पर पाखंड किया है।आरोपी ने धर्म के नाम पर पाखंड किया है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..