--Advertisement--

गुजरात: हमसफर एक्सप्रेस पर पथराव, खिड़की का कांच टूटा, मामला दर्ज नहीं

घटना के कुछ देर पहले ही ट्रैक पर नजर आया था बच्चा

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 04:19 AM IST
stone throwing at humsafar express train near udhna station

सूरत. उधना स्टेशन आउटर के तापी लाइन कर्व के पास रविवार को अज्ञात लोगों ने हमसफर एक्सप्रेस पर पथराव किया। किसी यात्री को चोट तो नहीं आई, लेकिन ट्रेन के एक कोच की खिड़की का कांच टूट गया। ट्रेन उधना से निकली ही थी कि उस पर पत्थरबाजी शुरू हो गई। कुछ दिन पहले गोल्डन टेंपल को ट्रैक पर स्लीपर रख कर पलटाने की कोशिश की गई थी।

- हमसफर से मुंबई से पटना जा रहे विक्रमजीत मोइत्रा ने बताया कि दोपहर 12.55 बजे बांद्रा से रवाना होने के बाद ट्रेन शाम 5.10 बजे उधना पहुंची। यहां से शाम 5.56 बजे चली। थोड़ी दूर आगे बढ़ने के बाद एक छोटा लड़का ट्रेन के सामने आ गया। लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाई। लड़का बच गया। उसके बाद ट्रेन जैसे रवाना हुई बी8 कोच पर पत्थरबाजी की गई।

- इतनी तेजी से पत्थर बरसाए गए कि डबल कोटेड ग्लास का पहला कोट चकनाचूर हो गया। जब ट्रेन नंदूरबार पहुंची तो क्षतिग्रस्त कांच को हटाया गया।

आरपीएफ: पत्थर किसने फेंके, अभी तक पता नहीं
आरपीएफ ने बताया कि पत्थर किसने फेंके अभी इसका पता नहीं चल पाया है। इस घटना की कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई है। यह मामला ट्रेन के उधना से रवाना होने के बाद सामने आया। उधना-चलथाण के बीच घुमावदार रेल पटरी पर ट्रेन पहुंची तो पत्थर फेंके गए। इस पॉइंट पर घुमाव के कारण ट्रेन की गति कम रहती है। हम मामले की जांच कर रहे हैं।

वारदात: उधना के पास ही लगातार हो रही है पत्थरबाजी
गौरतलब है कि उधना के पास मीठी खाड़ी, भीमनगर, चलथाण सेक्शन पर लगातार ट्रेनों पर पत्थरबाजी की जा रही है। जनवरी में सूरत-बांद्रा इंटरसिटी और कर्णावती एक्सप्रेस पर पथराव हुआ। फरवरी में रणकपुर एक्सप्रेस पर, जबकि इस महीने गोल्डन टेंपल को पलटाने की कोशिश की गई। इस मामले में दो आरोपियों को कुछ दिन पहले ही पकड़ा गया था।

X
stone throwing at humsafar express train near udhna station
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..