--Advertisement--

सूरत कीे 3 दंगल गर्ल्स ने प्रतिस्पर्धी को पछाड़कर जीता गोल्ड मेडल

हितांशी और श्वेता दोनों पहले कबड्डी प्लेयर थी। उधर हेली परमार स्विमर थी।

Danik Bhaskar | Feb 14, 2018, 12:30 PM IST
शिमला में आयोजित रेसलिंग ओपन नेशनल चेम्पियनशिप में तीनों ने गोल्डमेडल जीता। शिमला में आयोजित रेसलिंग ओपन नेशनल चेम्पियनशिप में तीनों ने गोल्डमेडल जीता।

सूरत। कुश्ती के खेल में महिलाएं भी अब पुरुषों की बराबरी करने लगी हैं। सूरत में भी फोगाट बहनों की तरह दंगल गर्ल्स है। इन्होंने राज्य से बाहर आयोजित रेसलिंग में अपनी प्रतिस्पर्धी को धोबी पछाड़ देकर गोल्ड मेडल जीता है। इससे पूरे राज्य के अलावा सूरत शहर का भी गौरव बढ़ा है। सबसे छोटी उम्र की रेसलर…

सूरत शहर के इतिहास में पहली बार छोटी उम्र की लड़कियां रेसलिंग खिलाड़ी बनी हैं। सूरत के कतारगाम के पास स्थित गजेरा विद्याभवन में कक्षा 9 वीं में पढ़ने वाली हेली जतीन भाई परमार तथा दसवीं की श्वेता कमलकिशोर दुबे और हितांशी प्रफुल्लभाई गांगाणी अलग-अलग खेलों में पारंगत थी। पर इन्होंने अचानक ही रेसलिंग से जुड़ने की इच्छा जागी और कुश्ती की प्रेक्टिस शुरू की।

शिमला में मारा मैदान

पिछले एक साल के दौरान तीनों दंगल गर्ल्स ने अनेक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खेलों में भाग लिया। हाल ही में शिमला के सोलन में आयोजित ओपन नेशनल चेम्पियनशिप में हेली, श्वेता और हितांशी का चयन हुआ। इससे उन्होंने रेसलिंग ओपन नेशनल चेम्पियनशिप में भाग लिया, जहां उन्होंने अपने प्रतिस्पर्धियों को हराकर गोल्ड मेडल जीता।

दबंग गर्ल्स जैसा प्रदर्शन

हितांशी और श्वेता दोनों पहले कबड्डी प्लेयर थी। उधर हेली परमार स्विमर थी। पर तीनों ने अपना पसंदीदा खेल छोड़कर रेसलिंग को कैरियर के रूप में चुना। तीनों ने दूसरे राज्यों में जाकर गोल्ड जीता। इनका परफार्मेंस दंगल की रेसलर गीता- बबीता की तरह था। उनकी स्टाइल से सभी प्रभावित हुए।

सूरत की प्लेयर बनी विजेता

शिमला में आयोजित रेसलिंग आेपन नेशनल चेम्पियनशिप में गुजरात समेत राजस्थान, दिल्ली, यूपी, मध्यप्रदेश, झारखंड, हरियाणा, हिमाचल और बिहार के कुल 500 से अधिक गर्ल्स प्लेयर्स ने भाग लिया। चार दिनों तक चली इस स्पर्धा में सूतर की हेली परमार, श्वेता दुबे और हितांशी गांगाणी ने एक साथ गोल्ड मेडल पर कब्जा किया।

सूरत की सबसे छोटी उम्र की रेसलर। सूरत की सबसे छोटी उम्र की रेसलर।
सूरत की 3 दंगल गर्ल्स ने धाेबी पछाड़ देकर जीता गोल्ड मेडल। सूरत की 3 दंगल गर्ल्स ने धाेबी पछाड़ देकर जीता गोल्ड मेडल।
10 राज्यों की 500 से अधिक गर्ल्स ने इस प्रतिस्पर्धा में भाग लिया। 10 राज्यों की 500 से अधिक गर्ल्स ने इस प्रतिस्पर्धा में भाग लिया।