--Advertisement--

'जश्न के शहर' से सामने आईं ये तस्वीरें, जब लेडी कैंडिडेट्स ने हासिल की जीत

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 03:39 AM IST

सपोर्टर्स ने भी डांस कर, पटाखे फोड़ कर अपनी खुशी व्यक्त की। इस विजय यात्रा में महिलाएं भी आगे रही।

इस अंदाज में किया गया इलेक्शन इस अंदाज में किया गया इलेक्शन

सूरत. गुजरात के सूरत को अगर जश्न का शहर कहा जाए तो कोई अतिशियोक्ति नहीं होगी। मौका चाहे धार्मिक पर्व-त्योहार का हो या फिर राजनीतिक, सूरती लोग जश्न मनाना खूब जानते हैं। इसी की एक झलक हमें सोमवार को मिली, जब मतगणना का परिणाम आया लोग जश्न में डूब गए।

विजय यात्रा में महिलाएं भी आगे रही

- जीएसटी, नोटबंदी, आरक्षण आंदोलन आदि कई मुद्दों के बावजूद इस बार भी बीजेपी की जीत हुई। विधानसभा के चुनाव की मतगणना शहर के एसवीएनआईटी काॅलेज और गांधी इंजीनियर कॉलेज में की गई, जिसमें शहर की 15 विधानसभा सीटों पर बीजेपी की जीत हुई।

- सभी विजेताओं ने विजय यात्रा निकालकर जीत की खुशी मनाई। सभी कार्यकर्ता एवं सपोर्टर्स ने भी डांस कर, पटाखे फोड़ कर अपनी खुशी व्यक्त की। इस विजय यात्रा में महिलाएं भी आगे रही।

- झंखना पटेल जिसकी जीत चौर्यासी विधानसभा सीट से हुई और संगीता पाटिल ने लिंबायत विधानसभा सीट हासिल की। उनकी काफी महिला समर्थक रास्ते पर विजय यात्रा में जुड़ी और जीत का जश्न मनाया।

इस वजह से बड़ी मार्जिन से जीतने में कामयाब रही झंखना पटेल

- चौर्यासी हिन्दी बाहुल्य होने के साथ स्थानीय बाहुल्य भी है। यहां कुल मिलाकर करीब एक लाख 25 हजार उत्तर भारतीय हैं। करीब एक लाख पांच हजार कोली पटेल और करीब 55 हजार मराठी।

- इसके साथ स्थानीय हलपति समाज के 4200 वोट, उड़ीसा के 15000, राजस्थानी 2200 तथा अन्य वोटरों की संख्या 7500 है।

- माना जा रहा है कि चौधरी द्वारा उत्तर भारतीय अस्मिता का मुद्दा उठाने से विशेषतौर पर कोड़ी पटेल, हलपति, उड़ीसा और राजस्थानी वोटरों का ध्रुवीकरण हो गया। इन वोटरों का अधिकांश वोट बीजेपी की झंखना पटेल के खाते में गया।

- वहीं, बड़ी संख्या में हिंदीभाषी वोट जो पूरी तरह बीजेपी का समर्पित वोटर है उसका भी वोट बीजेपी को गया। यही वजह रही कि झंखना इतनी बड़ी मार्जिन से जीतने में सफल रही।

X
इस अंदाज में किया गया इलेक्शन इस अंदाज में किया गया इलेक्शन
Astrology

Recommended

Click to listen..