--Advertisement--

सूरत में 614 CCTV से पूरे शहर पर नजर, गड़बड़ होते ही कंट्रोल रूम आता है हरकत में

दिनभर में आए 10 हजार कॉल, इधर से उधर दौड़ती रही पुलिस।

Danik Bhaskar | Dec 10, 2017, 05:41 AM IST
सूरत | मतदान के दौरान शहर की सुर सूरत | मतदान के दौरान शहर की सुर

सूरत. वैसे तो चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था की पूरी जिम्मेदारी पूरी तरह पैरामिलिट्री फोर्स निभा रही थी, लेकिन स्थानीय पुलिस भी पूरी मुस्तैदी के साथ चुनाव व्यवस्था में लगी रही। मतदान के दौरान किसी भी गड़बड़ी व शिकायत का दूर करने के लिए पुलिस कंट्रोल रूम में विशेष व्यवस्था की गई थी। इस दौरान लगभग 10000 लोगों ने फोन कर मतदान संबंधित शिकायतें की, जिन्हें पुलिस ने अटेंड किया और जो भी दिक्कतें थीं उसे दूर भी किया। लेकिन, पुलिस का कहना है कि कई फोन फेंक थी। मौके पर जाकर मालूम हुआ कि वहां ऐसी कोई समस्या ही नहीं है।

वराछा में विरोध पर पाया काबू

कंट्रोल रूम से मिली जानकारी के अनुसार सबसे महत्वपूर्ण कॉल वराछा के गायत्रीनगर बूथ से आया था। वहां पर कुछ युवक जय सरदार-जय पाटीदार की टोपी पहनकर मतदान केन्द्र पर हंगामा कर रहे थे। वहां मौजूद सुरक्षा बल की संख्या कम होने के कारण वे हंगामा कर रहे लोगों पर काबू नहीं कर पा रहे थे। इसे बाद पुलिस कंट्रोल रूम को फोन किया गया। जहां से भारी सुरक्षा बलाें को गायत्रीनगर पोलिंग बूथ पर भेजा गया।

कतारगाम में पास के विरोध को किया निष्फल

- कतारगाम में आंबा तलावड़ी के पास भी पास कार्यकर्ता जय सरदार, जय पाटीदार की टोपी लगा कर विरोध कर रहे थे। इनका आरोप था कि बोगस वोटिंग हो रही है। पास कार्यकर्ताओं ने एक व्यक्ति की पिटाई भी कर दी। विरोध बढ़ता देख पुलिस कंट्रोल रूम को फोन किया गया। सूचना पर तत्काल पुलिस बल को मौके पर भेजा गया और उन्होंने हालात पर काबू पाया।

- वहीं दोपहर को चौक बाजार में होडी बंगला के पास बोगस वोटिंग को लेकर दो गुट सामने आ गए। सूचना पर पुलिस की अतिरिक्त टुकड़ी मौके पर भेजी गई। पुलिस ने बल प्रयोग कर हालात को काबू में लिया।

- गोडादरा के श्रीजी नगर में भी बोगस वोटिंग को लेकर हंगामा हुआ था, जिसके चलते पुलिस के साथ पैरामिलिट्री फोर्स काे भेजना पड़ा। लिंबायत के मारुती नगर में भी कांग्रेस-भाजपा के कार्यकर्ता आपस में भीड़ गए थे। यहां भी पुलिस ने दोनों गुटों को मतदान केन्द्र से दूर किया। पांडेसरा में सुखी नगर के पास कुछ लोगों ने नारेबाजी की थी।