--Advertisement--

चिड़िया के घोसले वाला शादी का अनोखा निमंत्रण पत्र

शादी में आने वाले हर शख्स को यह शपथ दिलाई जाएगी कि वह इस घोसले को घर की खिड़की-बाल्कनी में रखेगा।

Danik Bhaskar | Feb 17, 2018, 03:41 PM IST
घोसले के आकार का निमंंत्रण कार्ड घोसले के आकार का निमंंत्रण कार्ड

सूरत। शहर में लगातार कम होती चिड़ियाओं के कारण यहां के एक परिवार ने चिड़िया के घोसले के आकार का शादी का कार्ड छपवाया है। साथ ही यह भी तय किया है कि शादी में आने वाले हर शख्स को यह शपथ दिलाई जाएगी कि वह इस घोसले को घर की खिड़की-बाल्कनी में रखेगा। शहर में चिड़ियाओं की संख्या बढ़े, इसलिए किया ये प्रयास…

संघवी परिवार के धरणेंद्र बताते हैं कि बेटे दर्शिल की शादी की तैयारी करते हुए जब हम कार्ड देखने गए, तो सामान्य रुप से कार्ड 100 रुपए से शुरू हो रहे थे। हमें कुछ अलग ही करना था। समाज को एक अलग ही तरह का संदेश देना चाहते थे। मैं कई संस्थाओं से सम्बद्ध हूं। इस दौरान मेरे सामने एक सर्वे आया, जिसमें यह पाया गया कि शहर में चिड़ियों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। क्योंकि उन्हें रहने के लिए जगह नहीं मिल रही है। शहर में पेड़ भी कम हो गए हैं। अब घरों में घोसले भी दिखाई नहीं देते। तब हमने तय किया कि शादी का कार्ड ही घोसले के रूप में बनाएं, ताकि लोग उसे अपने घर की बाल्कनी में रखें, ताकि उस पर चिड़िया अपना आशियाना बनाकर रह सके।

शहर के अलग-अलग हिस्सों में रखे घोसले

अब तय कर लिया कि कार्ड की घोसले के रूप में होगा। तब हमने अलग-अलग साइज के 27 घोसले बनाए, उसे शहरों के अलग-अलग हिस्सों में जाकर लगाया। कुछ दिनों बाद देखा कि उस घोसले में चिड़िया आने लगी है। बस हमारा मिशन सफल रहा। अब शादी के इस कार्ड के साथ लोगों को शपथ भी दिलाई जाएगी कि वे इसे अपने घर की बाल्कनी में लगा देंगे, ताकि चिड़िया वहां रह सके।

भेंट में केवल पुस्तकें ही ली

वराछा के वघासिया परिवार ने 2017 में शादी के निमंत्रण पत्र मेें यह लिखा कि हम भेंट में केवल पुस्तकें ही स्वीकार करेंगे। तब उन्हें पुस्तकें देने के लिए लोगों की लाइन लग गई थी। यह कार्ड भी सोशल मीडिया में बहुत ही वायरल हुआ।

अंकुरित भोजन

मई महीने में सरसाणा के प्लेटिनम हॉल में शाह परिवार की शादी थी। जिसमें मेहमानों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए अंकुरित भोजन सर्व किया गया। उसमें तेल-घी के उपयोग का सवाल ही पैदा नहीं होता है।

मेहमानों काे उनका रेखा चित्र दिया गया

कला को बढ़ावा देने के लिए झापड़िया परिवार की शादी में एक अनोखा प्रयोेग किया गया। राज्य के 8 चित्रकारों को बुला लिया, जब मेहमान बाहर निकलते तो उनके हाथ में उनका ही रेखाचित्र दिया जाता। इससे मेहमान बहुत ही खुश हुए।

साइकिल पर निकली बरात

पर्यावरण की जागृति के लिए साइकिलिंग का संदेश देने के लिए पटेल समाज में दूल्हे की बरात पर घोड़े के बजाए साइकिल पर निकाली गई। इससे भी एक अच्छा संदेश समाज में गया।