--Advertisement--

इस मंदिर में की गई 1500 मन मिश्री की बरसात, पाने टूट पड़े हजारों भक्त

187 साल पहले संतराम महाराज ने समाधि ली थी तब एक ज्योत प्रकट हुई थी। जो आज भी अखंड ज्योत के रूप में विद्यमान है।

Danik Bhaskar | Jan 31, 2018, 09:00 AM IST

नडियाद. गुजराज के नडियाद के संतराम मंदिर में मंगलवार को 187वें समाधि महोत्सव के समापन अवसर पर दिव्य मिश्री की बरसात की गई। इस दौरान मंदिर परिसर महाराज के जय जयकार से गूंज उठा। 187 साल पहले जब संतराम महाराज ने समाधि ली थी तब एक ज्योत प्रकट हुई थी। जो आज भी मंदिर में अखंड ज्योत के रूप में विद्यमान है।

मंदिर में मिश्री की बरसात का अनोखा महत्व है

मंगलवार को 1500 मन मिश्री की वर्षा श्रद्धालुओं पर की गई। धार्मिक रूप से इस मौके को काफी अहम माना जाता है। मिश्री की बरसात से पहले संतराम मंदिर में महंत महाआरती करते हैं। साल में एक बार मिश्री वर्षा के दौरान मंदिर में महाआरती होती है। हर साल की तरह इस साल भी ओम का मंत्रोच्चार और मौन रखने के बाद मंदिर के गादीपति पू. रामदास महाराज की देखरेख में मिश्री की वर्षा की गई। इस दौरान मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ थी जो कार्यक्रम में शामिल होकर स्वयं को धन्य महसूस कर रहे थे।

फोटो: दीपक जोशी।