सूरत

--Advertisement--

नर्मदा का पानी मिलने से कोई परेशानी नहीं है, 40 सर्विस स्टेशन के कनेक्शन काटे गए

अहमदाबाद शहर को धरोई डैम से मिलने वाला 200 क्यूसेक पानी बंद; 150 क्यूसेक पीने में होता था उपयोग

Danik Bhaskar

Mar 11, 2018, 07:11 AM IST

अहमदाबाद. अहमदाबाद शहर को पीने के लिए नर्मदा के अलावा धरोई डैम से 200 क्यूसेक पानी मिलता था। जल संकट के कारण धरोई डैम का पानी बंद करने निर्णय लिया गया है। 200 में से 150 क्यूसेक पानी का पीने के लिए उपयोग होता था। जबकि 30 से 40 क्यूसेक पानी टोरेंट पावर को बिजली के लिए दिया जाता था।

- महानगरपालिका के अधिकारियों का दावा है कि धरोई डैम से पानी बंद होने के कारण शहर में पानी की समस्या नहीं होगी। पर जब नर्मदा से कम मात्रा में पानी आएगा तो शहर में जल संकट की स्थिति पैदा होगी। उधर, महानगरपालिका ने शहर के 40 सर्विस स्टेशनों के पानी का कनेक्शन काट दिया है।

- ज्ञातव्य है कि अहमदाबाद शहर में 1900 से अधिक गैरेज और सर्विस स्टेशन हैं, जिसमें अधिकांश में पानी का अवैध कनेक्शन है। पाइप लाइन से पानी की चोरी करने वाले सर्विस स्टेशनों में जांच करने के आदेश दिए गए हैं। छह साल में धरोई डैम का जलस्तर 30 फीसदी तक घट गया और पानी के साथ मछलियां भी हुई कम हो गई हैं। फतेवाड़ी से होकर बहने वाली नदी में पानी कम होने से मछलियां एक जगह इकट्ठा हो गई हैं। मछुआरे जाल फेंक कर आसानी सेे मछलियां पकड़ रहे हैं।

अवैध कनेक्शन हटेंगे

चेयरमैन रमेश देसाई ने बताया कि महानगरपालिका की शुक्रवार को हुई वॉटर कमेटी की बैठक में अधिकारियों को अवैध कनेक्शन बंद करने का निर्देश दिया गया है। जल्द ही शहर से अवैध कनेक्शन को बंद कर दिया जाएगा।

धरोई का जलस्तर घटने से 15 से 22 मार्च तक सिंचाई का पानी बंद

धरोई डैम का जल स्तर पिछले छह साल में 29.37 परसेंट घटने से 15 से 22 मार्च तक सिंचाई के लिए पानी न छोड़ने का निर्णय लिया गया है। धरोई विभाग के सूत्रों ने बताया कि गर्मी में महेसाणा, पाटण और बनासकांठा जिले में पीने के पानी की कोई कमी न हो इसे ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

Click to listen..