--Advertisement--

जय श्री कृष्ण: वडोदरा में 100 हैंडपंप खराब, मरम्मत के लिए बनाई चार टीमें

कलेक्टर ने शुरू किया ‘पानी बचत’ अभियान, पोरबंदर में सार्वजनिक स्थलों के हैंडपंप बंद

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 04:29 AM IST

वडोदरा. वडोदरा जिले में पानी और पशुओं के चारे की कमी के मुद्दे पर कलेक्टर ने संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। कलेक्टर ने अधिकारियों को पानी बचत अभियान शुरू करने का निर्देश दिया। दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को हैंडपंप से पानी उपलब्ध कराने के लिए 4 टीमों को काम सौंपा गया है। वडोदरा के ग्रामीण इलाकों में 100 से ज्यादा हैंड पंप खराब हैं। कलेक्टर से खराब हैंड पंपों की मरम्मत कराने का निर्देश दिया है। कलेक्टर पी भारती ने कलेक्ट्रेट परिसर में अधिकारियों की बैठक बुलाई और गर्मी में पानी व पशुओं के चारे को लेकर चर्चा की। गर्मी के मौसम में लू लगने की स्थिति में तत्काल किस प्रकार की कार्रवाई की जा सकती है इस पर भी चर्चा हुई। इसके अलावा जिले के 600 गांवों में पीने के पानी पर गहन विचार-विमर्श हुआ।

सावली-डेसर की हालत दयनीय
10 मार्च से वडोदरा तहसील में ग्राउंड वॉटर डिपार्टमेंट द्वारा हैंड पंपों का सर्वे शुरू किया गया है। जिले में नए 125 हैंड पंप लगाने की व्यवस्था की गई है। सावली और डेसर तहसील की हालत सबसे ज्यादा दयनीय है। जनवरी के पहले सप्ताह में 78 हैंड पंपों के खराब होने की शिकायत मिली थी।

- पोरबंदर शहर समुद्र के किनारे बसा हुआ है। समुद्र के नजदीक होने के कारण यहां जमीन के नीचे का पानी भी खारा ही है। पालिका द्वारा शहर में पानी का वितरण किया जाता है। पोरबंदर शहर के कुछ स्थानों पर जहां जमीन में पीने लायक पानी है वहां पालिका द्वारा सार्वजनिक हैंड पंप लगाए गए हैं। पर इसमें से अधिकांश हैंड पंप बंद हालत में हैं। हैंड पंप खराब होने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। पोरबंदर की 2,61,375 की आबादी में पालिका द्वारा 20,240 नल कनेक्शन लगाए गए हैं। आबादी की तुलना में नल कनेक्शन कम होने से लोगों को पानी की काफी परेशानी होती है।

- पालिका द्वारा समय पर पानी का वितरण न किए जाने से परेशानी और बढ़ जाती है। शहर में 450 स्थानों पर बोर करके सार्वजनिक हैंड पंप लगाए गए हैं। हैंड पंप से नजदीक के इलाकों में पानी की सुविधा की गई है पर समुचित रखरखाव न होने के कारण इसमें से अधिकांश हैंड पंप खराब हैं।

नल कनेक्शन होने के बावजूद हैंड पंप का उपयोग करते हैं
पालिका द्वारा नल कनेक्शन से पानी का वितरण किया जाता है पर पर्याप्त मात्रा में पानी न आने के कारण लोग हैंड पंप से पानी भरकर लाते हैं। पालिका का पानी मुश्किल से एक दिन चलता है। स्नान आदि सहित पानी की कमी को पूरा करने के लिए लोग हैंड पंप का सहारा लेते हैं। पोरबंदर शहर में पालिका द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर लगाए गए हैंड पंप खराब होने के कारण लोगों को पानी के लिए दूर-दूर तक भटकना पड़ रहा है। लोग दूसरे इलाकों में लगे हैंड पंप से पानी भरकर लाने को मजबूर हैं।