--Advertisement--

चाय से पहले चर्चा; मन की बात से पहले स्क्रीन पर गोलमाल फिल्म का प्रोमो

एक मतदान केंद्र पर चाय के साथ मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम सुनने के लिए स्मृति ईरानी मौजूद थीं।

Danik Bhaskar | Nov 27, 2017, 04:31 AM IST

जूनागढ़. यहां पीएम मोदी की ‘मन की बात’ प्रोग्राम के शुरू होने से पहले टीवी स्क्रीन पर डीडी गिरनार चैनल पर प्रसारित हिंदी फिल्म ‘गोलमाल’ का प्रोमो शुरू हो गया। यह सियासी हलकों में चर्चा का विषय बना रहा। जूनागढ़ में एक मतदान केंद्र पर चाय के साथ मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम सुनने के लिए स्मृति ईरानी मौजूद थीं। तभी दूरदर्शन पर पुरानी गोलमाल फिल्म का प्रोमो चलने लगा। वहां मौजूद लोग हंसने लगे। गुजरात में रविवार को 50,128 केंद्रों पर चाय के साथ चर्चा हुई।

यूपी सीएम योगी, मंत्री जितेंद्र सिंह और मनोज तिवारी ने 10 लाख हिंदीभाषियों तक पहुंचाई भाजपा के ‘मन की बात’

नरेंद्र मोदी की सूरत के कामरेज में सभा के आयोजन के पहले रविवार को भाजपा के 7 स्टार प्रचारक सूरत आए। इनमें केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह, सांसद व अभिनेता परेश रावल, सांसद और दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी, मुंबई भाजपा के अध्यक्ष आशीष शेलार शामिल थे। भाजपा नेताओं ने 5 विधानसभा क्षेत्रों में आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात सुनने के कार्यक्रम में शिरकत की। सुबह 10:30 बजे शहर के अडाजण, पांडेसरा, उधना, डिंडोली, कतारगाम, भटार और अन्य स्थलों पर भाजपा नेताओं ने मोदी के मन की बात सुनी। कार्यक्रम देखने के लिए सभी तय स्थलों पर टीवी स्क्रीन लगाए गए थे। इस कार्यक्रम में भाजपा नेताओं के साथ अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों के भाजपा कार्यकर्ता और समर्थक भी मौजूद थे। सभी ने चाय की चुस्की के साथ मन की बात सुनी।

आशीष शेलार ने सिंगणपोर में सुनी मन की बात
कतारगाम विधानसभा के सिंगणपोर में भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ आशीष शेलार ने मोदी के मन की बात सुनी। भाजपा प्रत्याशी वीनू मोरडिया, पूर्व विधायक नानू वानाणी समेत बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं ने मोदी के मन की बात सुनी। आशीष शेलार ने भाजपा प्रत्याशी को जिताने और मिशन 150 को पूरा करने की कार्यकर्ताओं से अपील की।

मन की बात सुनने के लिए समय से नहीं पहुंच पाए अरुण जेटली
सूरत पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के अडाजण महालक्ष्मी मंदिर के पास आयोजित मन की बात सुनने के कार्यक्रम में वित्त मंत्री अरुण जेटली समय से नहीं पहुंच पाए। मन की बात पूरी होने के बाद पहुंचे अरुण जेटली ने कार्यकर्ताओं को भाजपा के मिशन 150 को सफल बनाने के लिए कहा। अरुण जेटली ने अडाजण महालक्ष्मी मंदिर में माताजी के दर्शन भी किए।

कार्यक्रम के कारण घरों से गाड़ी लेकर नहीं निकल पाए लोग
केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के अडाजण स्थित महालक्ष्मी मंदिर के पास आयोजित कार्यक्रम की वजह से आसपास की दुकानें पुलिस ने बंद करवा दी थीं। इससे दुकानदारों में गुस्सा दिखा। वहीं सड़क पर कार्यक्रम का आयोजन किए जाने की वजह से आसपास की सोसाइटियों के लोग अपने वाहन लेकर बाहर नहीं निकल पाए। भाजपा कार्यकर्ताओं ने भीड़ जुटाने के लिए आसपास की सोसाइटियों से लोगों को बुला लाए, फिर भी कुछ कुर्सियां खाली ही रहीं।

मौजूदगी : धर्मेंद्र प्रधान के साथ पहुंची सांसद दर्शना जरदोश
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भटार में आयोजित मन की बात सुनने के कार्यक्रम में शिरकत की। बाद में शाम को मजूरा विधानसभा क्षेत्र में आयोजित सभा में प्रधान ने भाग लिया। वहां उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी की लड़ाई राजनीतिक थी। उनके साथ प्रत्याशी अरविंद राणा, सूरत की सांसद दर्शना जरदोश और क्षेत्रपाल मंदिर के राकेश महाराज उपस्थित थे।

तंज : जो आज निर्दलीय प्रत्याशी हैं वे स्वार्थवश भाजपा से जुड़े थे
डिंडोली के पार्षद दयाशंकर सिंह ने कहा कि चोर्यासी हिंदीभाषी बाहुल्य क्षेत्र है। यहां के लोगों की मांग पार्टी तक पहुंचाई गई थी, लेकिन इस बार समीकरण नहीं बन पाने के कारण टिकट नहीं मिल पाया। पार्टी ने अगले चुनाव में हिंदीभाषी को टिकट देने का विश्वास दिलाया है। जिन लोगों ने पार्टी छोड़कर निर्दलीय उम्मीदवारी की है, वे निजी स्वार्थ के कारण पार्टी से जुड़े थे।

हिंदीभाषी वोट खींचने के लिए भाजपा ने सूरत में उतारे मंत्री और नेता

सूरत के पांच विधानसभा क्षेत्रों में लगभग 10 लाख से ज्यादा हिंदीभाषी मतदाता हैं। इन तक अपने मन की बात पहुंचाने के लिए भाजपा ने हिंदीभाषी मंत्रियों और नेताओं को बुलाया था। लिंबायत और पांडेसरा जैसे हिंदीभाषी बाहुल्य क्षेत्रों में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की सभाएं रखी गई थीं। जिन 9 विधानसभा क्षेत्रों में रविवार को भाजपा के स्टार प्रचारक पहुंचे उनमें से पांच में हिंदीभाषी वोटरों की तादाद काफी है। इन्हीं तक पहुंचने के लिए मन की बात के साथ सभाएं सूरत पश्चिम, उधना, मजूरा, चौर्यासी और लिंबायत में रखी गई थीं। हिंदीभाषियों को टिकट न मिलने की वजह से भी ये सभाएं महत्वपूर्ण थीं।

उत्तर भारतीयों ने अजय चौधरी के नेतृत्व में किया तिवारी का विरोध

चोर्यासी विधानसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी उत्तर भारतीय अजय चौधरी अपने काफिले के साथ मनोज तिवारी के कार्यक्रम स्थल के पास से गुजरे। इस दौरान उनके समर्थक नारेबाजी कर रहे थे। पुलिस बंदोबस्त पुख्ता होने की वजह से किसी प्रकार का टकराव नहीं हुआ। गौरतलब है कि पिछले कुछ चुनाव प्रचार और कई अन्य कार्यक्रमों में अजय चौधरी ने मनोज तिवारी के साथ मंच साझा किया था।

उत्तर भारतीय हमारे साथ हैं, कांग्रेस लोगों को बहका रही

डिंडोली क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी के चुनाव कार्यालय का उद्घाटन करने आए दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने उत्तर भारतीयों को टिकट नहीं देने के मुद्दे पर कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता हमारे साथ है। कांग्रेस पार्टी लोगों को भड़का रही है। यहां पर उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ मोदी के मन की बात सुनी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मन की बात कार्यक्रम से लोगों से जुड़ ही नहीं रहे, बल्कि लोगों में सकारात्मक ऊर्जा ला रहे हैं। मनोज तिवारी ने कहा कि अगर दूसरे दलों ने अपना काम ठीक से किया होता तो लोगों को इतनी दूर आना ही नहीं पड़ता। मनपा के पार्षदों की लिस्ट गिनाते हुए तिवारी ने कहा कि भाजपा ने इतने सारे उत्तर भारतीयों को मौका दिया है। मोदी पहले पीएम हैं जो यूपी के लोगों के हित की बात कर रहे हैं।

नसीहत : किसी भी धर्म या संप्रदाय के लोगों की भावना को ठेस नहीं पहुंचानी चाहिए
पद्मावती फिल्म का करणी सेना के विरोध के बारे में बात करते हुए मनोज तिवारी ने कहा कि किसी भी प्रकार के काम से किसी धर्म या संप्रदाय के लोगों की भावना को ठेस नहीं पहुंचाना चाहिए। यह ठीक नहीं है। अगर फिल्म से जुड़े लोगों ने ऐसा कुछ किया है तो उनको ठीक करना चाहिए। उन्होंने परेश रावल द्वारा क्षत्रिय समाज पर तंज कसे जाने पर कहा कि बात को तूल दिया जा रहा है। यह सब राहुल गांधी द्वारा लोगों का ध्यान खींचने का प्रयास है। बयान पर माफी मांगी जा चुकी है।