--Advertisement--

मोदी और राहुल की रैलियां : राहुल की 4 रैली, पुराने मुद्दे उठाए, मोदी पर कसा तंज

पीएम ने कहा कि हम गांधीजी, बुद्ध, सरदार पटेल, भगत सिंह को याद करते हैं। उनको गब्बर याद आते हैं। सही बात तो यह कि जो सगे

Danik Bhaskar | Nov 30, 2017, 03:17 AM IST

सूरत. पिछले डेढ़ महीने में बुधवार को पांचवीं बार गुजरात दौरे पर आए राहुल गांधी ने सोमनाथ दर्शन से चुनाव प्रचार आरंभ किया। उन्होंने सोमनाथ, विसावदर, भेंसाण, सावरकुंडला और अमरेली में रैली की। वहीं इसी दौरान दूसरी बार गुजरात दौरे पर आए प्रधानमंत्री मोदी ने मोरबी, प्राची, पालिताणा और नवसारी में रैली कर जनसभा को संबोधित किया।


राहुल ने रैलियों में इन पर की बात-

इमोशनल कार्ड : मोदी अमिताभ से भी बड़े अभिनेता हैं। चुनाव से पहले दो-तीन बार आंसू लाकर इमोशनल करते हैं।
किसान कार्ड : गुजरात में कांग्रेस की सरकार आएगी तो 10 दिन में ही किसानों के सभी कर्ज माफ किए जाएंगे।
पुराना मुद्दा : अन्य तीन स्थलों पर मछुआरों को सब्सिडी, उद्योगपतियों को बढ़ावा, गब्बर सिंह टैक्स और नोटबंदी का मुद्दा उठाया।

2002 के बाद रथयात्रा पर हमला व सांप्रदायिक दंगे कभी नहीं हुए : मोदी

दूसरी बार गुजरात दौरे पर आए प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को मोरबी, प्राची, पालिताणा और नवसारी में रैली कर जनसभा को संबोधित किया। इसमें उन्होंने नेहरू-गांधी परिवार पर प्रहार से लेकर जीएसटी, नोटबंदी, नर्मदा, कालेधन के मुद्दे पर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया।


इन मुद्दों पर बोले मोदी-

नोटबंदी : जनता की तिजोरी लूटने वाले अर्थशास्त्री बन गए। नोटबंदी का विरोध लोग ऐसे कर रहे हैं, जैसे उनका कुछ लुट गया हो।
जीएसटी : हम गांधीजी, बुद्ध, सरदार पटेल, भगत सिंह को याद करते हैं। उनको गब्बर याद आते हैं। सही बात तो यह कि जो सगे होते हैं वहीं याद आते हैं।
पुराना कार्ड : पालिताणा में कहा-2002 के बाद साम्प्रदायिक दंगे नहीं हुए। रथयात्रा पर हमले नहीं हुए। निर्दोष लोगों का खून नहीं बहा।