Hindi News »Gujarat »Surat» Robots To Handle Dangerous Jobs Of Textile Mills

कपड़ा मिलों के खतरनाक काम संभालेंगे रोबोट, मुंबई IIM तैयार करेगा नई तकनीक

प्रोसेस हाउस के क्रिटिकल जोन में सुरक्षा उपायों के तहत भविष्य में रोबोटिक आर्म का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 18, 2017, 04:23 AM IST

  • कपड़ा मिलों के खतरनाक काम संभालेंगे रोबोट, मुंबई IIM तैयार करेगा नई तकनीक
    +2और स्लाइड देखें

    सूरत.प्रोसेस हाउस के क्रिटिकल जोन में सुरक्षा उपायों के तहत भविष्य में रोबोटिक आर्म का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस बाबत शहर के लक्ष्मीपति ग्रुप के प्रोसेस हाउस में गुरुवार रात को मुंबई आईआईएम के सीनियर प्रोजेक्ट मैनेजर कृष्णा लाला, स्केट कॉलेज के प्रोफेसर उत्पल पंड्या और स्केट के 4 स्टूडेंट ने जानकारी दी।

    लक्ष्मीपति ग्रुप के संजय सरावगी को बताया कि क्रिटिकल जोन में सुरक्षा उपायों के तहत रोबोटिक आर्म का इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे किसी भी दुर्घटना के वक्त जन हानि को रोका जा सकता है। सरावगी ने कहा कि सुरक्षा एक बड़ी समस्या है। इसलिए जल्द ही रोबोट का इस्तेमाल क्रिटिकल जोन में किया जाएगा।

    भविष्य में बड़ा लाभ होगा

    मुम्बई आईआईएम के सीनियर प्रोजेक्ट मैनेजर कृष्णा लाला ने बताया कि प्रोसेस हाउस के जोखिम भरे एरिया में इंसान के बजाए रोबोट तकनीक का इस्तेमाल कोई मुश्किल भरा काम नहीं है। जल्द ही इस पर प्रयोग कर काम शुरू करेंगे। काम कब पूरा होगा वह पता नहीं, लेकिन होगा जरूर। रोबोटिक तकनीक से भविष्य में प्रोसेस हाउस को बड़ा लाभ होगा।

    सूरत में हैं 250 से अधिक प्रोसेस हाउस


    सूरत के 250 प्रोसेस हाउस में लगभग एक लाख से अधिक लोग काम करते हैं। प्रोसेस हाउस में बॉयलर हाउस, वे-इट रिडक्शन एरिया, धुलाई कुंडी, ड्रम सेक्शन जैसे कई ऐसे क्षेत्र हैं, जहां काम करना जोखिम भरा काम है। मजबूरी के कारण कई लोग काम करते हैं। कई बार बॉयलर फटने से कइयों की मौत होने की घटनाएं भी सामने आई हैं। ऐसे में इन कर्मचारियों के हित के बारे में सोचकर रोबोटिक तकनीक पर विचार किया जा रहा है। इसको टेक्सटाइल के क्षेत्र में बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है।

    सुरक्षा के लिए रोबोटिक तकनीक जरूरी

    संजय सरावगी ने बताया कि क्रिटिकल जॉन में दुर्घटनाएं होते रहते हैं। जिसके कारण कर्मचारियों की मौत भी हो जाती है। अब इन क्रिटिकल जॉन में काम करने वाले कर्मचारियों के बजाय रोबोटिक तकनीक का उपयोग होगा, तो यह एक क्रांति होगी। आईआईएम को इस तकनीक को साकार करने में किसी मदद की जरूरत होगी तो वह दी जाएगी।

  • कपड़ा मिलों के खतरनाक काम संभालेंगे रोबोट, मुंबई IIM तैयार करेगा नई तकनीक
    +2और स्लाइड देखें
  • कपड़ा मिलों के खतरनाक काम संभालेंगे रोबोट, मुंबई IIM तैयार करेगा नई तकनीक
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×