--Advertisement--

जादू से सोना बनाने का झांसा देकर सुपरवाइजर से 28 लाख रुपए की ठगी

केमिकल और जादू से सोना बनाने का झांसा देकर कुछ लोगों ने एक हीरा कारखाने के सुपरवाइजर से 28 लाख रुपए ऐंठ लिए।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 04:18 AM IST
swindle of 28 lakh rupees from supervisor
सूरत. केमिकल और जादू से सोना बनाने का झांसा देकर कुछ लोगों ने एक हीरा कारखाने के सुपरवाइजर से 28 लाख रुपए ऐंठ लिए। इससे पहले आरोपियों ने विश्वास दिलाने के लिए 8 लाख रुपए लेकर सोने का बिस्किट व्यापारियों को दिए थे। विश्वास जम गया तो 28 लाख रुपए ले लिए। उसके बाद न तो रुपए लौटाए और न ही सोना दिया।

कतारगाम में तापी नगर सोसाइटी के मधुवन अपार्टमेंट निवासी कल्पेश हिम्मतभाई राजपरा हीरा कारखाने में सुपरवाइजर है। डेढ़ वर्ष पहले उसके एक मित्र ने शैलेश जीवराज केवडिया, जीवराज छगन केवडिया, दोनों निवासी- स्टार रेजिडेंसी, अमरोली, अहसान रसीदखान पठान, निवासी- अल अमीन रेजिडेंसी न्यू रांदेर रोड, अकबर नवाजखान पठान, निवासी- बडेखा चकला, लतीफ दाना अपार्टमेंट, गोपीपुरा, मंसूरी(आनंद), इकबाल, निवासी- भावनानगर, लिंबायत और पिन्टू से मुलाकात हुई। इन लोगों ने कल्पेश को बताया कि उन्हें केमिकल, मरक्यूरी और जादू से सोना बनाना आता है।
इसके लिए कुछ सामान खरीदना पड़ेगा। कल्पेश उनकी बातों में आ गया। कल्पेश ने उन्हें 8 लाख रुपए दिए। उसके बाद सातों ने एक सोने की बिस्किट कल्पेश को दी। इससे कल्पेश का विश्वास सातों पर बढ़ गया। आरोपियों ने कल्पेश से कहा, ज्यादा रुपए दोगे तो ज्यादा सामान खरीद पाएंगे। इससे सोने की बड़ी बिस्किट बना सकेंगे। ज्यादा की चाहत में कल्पेश ने 28 लाख रुपए दे दिए। ठग ने रुपए लेने के बाद कल्पेश को घुमाने लगे। बार-बार बिस्किट मांगने के बाद भी जब आरोपियों ने सोने की बिस्किट नहीं दी तो कल्पेश ने पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराने की धमकी दी, जिसके बाद आरोपियों ने चेक और भरोसे के लिए एक खत लिखकर दिया, लेकिन रुपए नहीं दिए। आखिर में थक हार कर कल्पेश ने आरोपियों के खिलाफ पुलिस कमिश्नर के पास शिकायत की, जिसके आधार पर कतारगाम पुलिस थाने ने सभी सात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
राजस्थानी व्यापारी के साथ 24.56 लाख की ठगीपाली जिले के ग्रीन पार्क सोसाइटी निवासी मनोज भवरलालजी लखेरा की सूरत में परवत पाटिया के पास महावीर टेक्सटाइल मार्केट में उनकी ऑफिस है। ऑफिस में आरोपी सुनील मोहनलाल साल्वोट, निवासी- ब्रजधाम सोसाइटी, गोडादरा और कैलाश रामलाल लखारा, निवासी- अभिषेक रेजिडेंसी- 1, परवत पाटिया नौकरी करते थे। 2015 के बाद से आरोपियों ने केमिकल बिक्री के बिल में रकम और वजन में छेड़छाड़ कर 20.53 लाख की ठगी की। उसके बाद उन्होंने गोडाउन में रखे 4.03 लाख के केमिकल को भी बेच दिया।
X
swindle of 28 lakh rupees from supervisor
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..