--Advertisement--

ट्रक ने मासूम समेत 3 को रौंदा, ड्राइवर की पिटाई कर पुलिस को सौंपा

BRTS के कारण सड़कें होने लगी संकरी, इस ओर न पालिका और न ही पुलिस का ध्यान है।

Danik Bhaskar | Jun 07, 2018, 04:05 PM IST
ट्रक ने मासूम समेत 3 को रौंदा। ट्रक ने मासूम समेत 3 को रौंदा।

सूरत। शहर में भारी वाहनों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है। इनकी स्पीड पर अंकुश लगाने में पुलिस पूरी तरह से नाकाम साबित हुई है। इसका उदाहरण बुधवार की दोपहर को देखने को मिला, जब सरथाणा में बेटे के एडमिशन के लिए मां अपने 3 साल के बेटे को लेकर उसके दादा के साथ जा रही थी, तभी गलत तरीके से मोड़ते हुए ट्रक ने तीनों को रौंद डाला। तीनों की घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई। लोगों ने ट्रक चालक को खूब पीटा….

सरथाणा योगीचौक,योगी दर्शन सोसायटी में रहने वाले लालजी भाई भगवानभाई रादड़िया सेवानिवृत्त हो चुके थे। उनका भतीजा विजय रादड़िया साड़ी का जॉबवर्क करता है। विजय भाई का 3 साल का बेटा मंत्र का स्कूल में एडमिशन कराना था। इसलिए विजय भाई की पत्नी हेतलबेन (35) अपने चाचा ससुर लालजी भाई के साथ बाइक पर दोपहर 3 बजे बेटे मंत्र को लेकर मारुतिधाम के पास स्थित एबीसी स्कूल जाने के लिए घर से निकली। अभी वे बापा सीताराम चौक तक ही पहुंचे थे कि वहां से टर्न लेते हुए ट्रक ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया। ट्रक की चपेट में आते ही लालजी भाई बाइक के साथ दूर फिंक गए। उधर हेतल और मंत्र को ट्रक ने रौंद दिया। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है।

हेतल बेन पिछले व्हील में फंसी

सीसीटीवी के आधार पर बीआरटीस जक्शन पर रोड क्राॅस करते समय तेज से आते ट्रक ने गलत तरीके से बाइक सवारों को अपनी चपेट में ले लिया। इससे हेतल बेन ट्रक के पिछले व्हील में फंस गई। इसके बाद भी ड्राइवर ने ट्रक नहीं रोका। इससे हेतल ट्रक के साथ घिसटती दूर तक चली गई। बाद में ट्रक रुका, तो हेतल को बमुश्किल व्हील से बाहर निकाला।

ड्राइवर भागकर सोसायटी में छिपा

इस घटना के बाद ड्राइवर भागकर पास की सोसायटी में छिप गया। जिसे लोगों ने बाहर निकालकर पहले उसकी खूब पिटाई की, उसके बाद उसे पुलिस को सौंप दिया। मृतक मासूम के चाचा नरेंद्र भाई ने इस संबंध में कहा कि बीआरटीएस के कारण सड़कें संकरी हो गई हैं, इसके कारण दुर्घटनाएं बढ़ रही हैं। इस दिशा में न तो पालिका और न ही पुलिस ध्यान दे रही है।

कई दिन बाद निकले थे घर से

मृतक हेतलबेन की डेढ़ साल की बेटी भी है। उसने अपना भाई और मां खो दिया। परिवार मूल रूप से अमरोली का रहने वाला है। हेतलबेन के देवर जगदीश ने बताया कि कई दिनों से मंत्र के एडमिशन के लिए बात चल रही थी। मृतक लालजी घर पर ही रहते थे। तीनों कई दिनों बाद घर से बाहर निकले थे। तीनों ट्रक के पिछले पहिए की चपेट में आ गए। चश्मदीद दुकानदारों ने बताया कि सड़क पर ज्यादा वाहन नहीं थे। ट्रक की स्पीड लगभग 40 से 50 की रही होगी।

ट्रक परवत पाटिया से वराछा की तरफ जा रहा था।

बाइक सवार योगी चौक से सरथाणा गांव रोड से आ रहे थे।

हेतल बेन पिछले व्हील में फंसकर दूर जा छिटकी। हेतल बेन पिछले व्हील में फंसकर दूर जा छिटकी।
मासूम के शरीर को लोगों ने रुमाल से ढांक दिया। मासूम के शरीर को लोगों ने रुमाल से ढांक दिया।
हेतल बेन की इलाज के दौरान मौत हो गई। हेतल बेन की इलाज के दौरान मौत हो गई।
BRTS के कारकण सड़कें हो गई हैं संकरी। BRTS के कारकण सड़कें हो गई हैं संकरी।
इस डेढ़ साल की बच्ची से छिन गया मां का साया। इस डेढ़ साल की बच्ची से छिन गया मां का साया।
लालजी भाई। लालजी भाई।

Related Stories