--Advertisement--

जयपुर के 800, दिल्ली के 600 और मुंबई के करीब 3 हजार रेल यात्री कम हुए

सूरत एयरपोर्ट पर फ्लाइट बढ़ने से रेल्वे चिंतित, हर रोज ढाई हजार यात्री प्लेन से यात्रा कर रहे हैं।

Danik Bhaskar | Jun 15, 2018, 04:02 PM IST

  • यात्रियों की संख्या घटने से रेल्वे चिंतित
  • लोग अब निजी वाहन या बस का सहारा लेने लगे हैं।

सूरत। सूरत एयरपोर्ट पर लगातार कई उड़ानों के बढ़ने से यहां यात्रियों की संख्या में इजाफा हुआ है, जबकि रेलवे स्टेशन पर यात्रियों में कमी आई है। पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष दो महीने में लगभग 7 से 8 हजार रेल यात्री कम हुए हैं। रेल अधिकारियों का कहना है कि पिछले कुछ महीनों में एयरपोर्ट पर उड़ानें बढ़ी हैं। इससे रोज या हफ्ते में सफर करने वाले यात्री स्टेशन से डायवर्ट होकर एयरपोर्ट की तरफ चले गए। लोग निजी वाहन और बस का भी सहारा ले रहे हैं...

दूसरी वजह यात्री अपने निजी वाहन या बस से सफर कर रहे हैं। रेलवे से प्राप्त एक आंकड़े के मुताबिक सूरत से उत्तर पश्चिम रेल और उत्तर रेलवे के यात्री कम हुए हैं। इनमें जयपुर के 7 से 800 यात्री कम हुए हैं, जबकि दिल्ली के 600 और मुंबई के 2 से 3 हजार रेलवे यात्रियों की कमी आई है। रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि सूरत एयरपोर्ट से रोजाना मुंबई के लिए अब फ्लाइट है, जिससे यह अंतर आया। इसी तरह जयपुर और दिल्ली के लिए भी रोजाना सूरत से फ्लाइट है।

एयरपोर्ट पर यात्री बढ़ने से रेलवे में दो माह में 8 हजार यात्री घट गए

सूरत एयरपोर्ट से हर रोज ढाई हजार से ज्यादा यात्री सफर कर रहे हैं। मई में 67,231 से ज्यादा यात्रियों ने सफर किया था। इससे पैसेंजर ग्रोथ 93% दर्ज की गई। अप्रैल में कुल 63 हजार 400 यात्रियों ने उड़ान भरी थी। इसमें से सबसे अधिक यात्री दिल्ली और मुंबई के थे। सूरत एयरपोर्ट से जून महीने तक कुल 90 हजार से अधिक यात्रियों के सफर की संभावना है। 1 जून से शुरू हुई सूरत-बेंगलुरू फ्लाइट के बाद पैसेंजर बढ़े हैं। वित्तीय वर्ष 2017-18 के अप्रैल में सूरत रेलवे स्टेशन से कुल 63,981 यात्रियों ने सफर किया था। फर्स्ट एसी में 116, सेकंड एसी में 1591, थर्ड एसी में 6901, चेयरकार में 2336, फर्स्ट क्लास नॉन एसी में 41, स्लीपर में 46374, इकोनॉमी क्लास में 56 यात्रियों ने सफर किया, जबकि मई में 63,881 यात्रियों ने यात्रा की। सूरत स्टेशन के रेल अधिकारियों के मुताबिक इसमें फर्स्ट एसी में 73, सेकंड एसी में 1325, थर्ड एसी में 6180, चेयर कार में 6180, नॉन एसी फर्स्ट क्लास में 43, स्लीपर में 48202, इकोनॉमी क्लास में 68 यात्रियों ने सफर किया था।

इस वित्तीय वर्ष में कम हुए यात्री

वित्तीय वर्ष 2018-19 के पहले दो महीने में पिछले वर्ष के मुकाबले काफी अंतर दिखा जिससे 7 से 8 हजार यात्रियों की कमी आई। अप्रैल 2018 में रेलवे स्टेशन से 57,952 यात्रियों ने यात्रा की। इसमें फर्स्ट एसी में 61, सेकंड एसी में 1651, थर्ड एसी में 2253, नॉन एसी फर्स्ट क्लास में 43, स्लीपर में 41900, इकोनॉमी में 69 यात्रियों ने सफर किया। जो पिछले वर्ष अप्रैल के मुकाबले 6 हजार कम है। मई 2018 में कुल 57899 यात्रियों ने सफर किया, जिसमंे फर्स्ट एसी में 59, सेकंड एसी में 1564,थर्ड एसी में 7000, चेयर कार में 1992, नॉन एसी फर्स्ट क्लास में 40, स्लीपर में 41253, इकोनॉमी क्लास में 70 यात्रियों ने सफर किया। यह पिछले साल के मई की तुलना में 7 हजार कम है।