--Advertisement--

गुजरात: सबसे बड़े तत्काल ई-टिकट रैकेट का भंडाफोड़, पहली बार डेढ़ करोड़ रुपए के 6600 टिकट रद्द

सूरत में 50 अतिरिक्त जवान भेजे गए, 50 और आएंगे ताकि स्टेशन पर ब्लॉक ई-टिकट वाले यात्री हंगामा न कर सकें।

Dainik Bhaskar

May 05, 2018, 05:58 AM IST
रैकेट के मास्टरमाइंड सलमान खा रैकेट के मास्टरमाइंड सलमान खा

  • सिर्फ एक क्लिक में तत्काल कोटे के 100 कंफर्म टिकट बुक कर लेते थे एजेंट
  • देश भर में 5400 एजेंटों के नेटवर्क को चलाने वाला मास्टरमाइंड ठाणे से गिरफ्तार

सूरत. मध्य रेलवे आरपीएफ ने तत्काल ई-टिकट बुक करने वाले एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया है। यह रैकेट अनधिकृत सॉफ्टवेयर 'काउंटर' के द्वारा चंद सेकंड में सैकड़ों तत्काल टिकट बुक कर देता था। रैकेट के मास्टरमाइंड सलमान खान को मध्य रेलवे के मुंबई डिविजन के ठाणे में गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास ई-टिकट बुक करने का लाइसेंस भी नहीं है। उसका नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ है। काउंटर सॉफ्टवेयर के द्वारा बुक किए गए डेढ़ करोड़ रुपए के 6600 तत्काल ई-टिकट रेलवे ने शुक्रवार को ब्लॉक कर दिए। यानी जिनके पास ये रद्द किए जा चुके टिकट हैं, वे अब यात्रा नहीं कर सकेंगे। ये टिकट देशभर से बुक हुए थे, लेकिन पश्चिम और मध्य रेलवे के टिकट सबसे ज्यादा हैं।

सिर्फ एक क्लिक में 100 कंफर्म टिकट कर लेते थे बुक

- रेल अधिकारियों ने बताया कि काउंटर सॉफ्टवेयर के जरिए सलमान रेलवे रिजर्वेशन सिस्टम को हैक कर लेता था। वह माउस के सिर्फ एक क्लिक से एक बार में 100 कंफर्म तत्काल ई-टिकट बुक कर लेता था। किसी को शक न हो, इसके लिए अपने कंप्यूटर का पासवर्ड बार-बार बदल देता था।

- मध्य रेल मुंबई मंडल आरपीएफ के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त सचिन भालोडे ने बताया कि यह अब तक का सबसे बड़ा तत्काल ई-टिकट रैकेट है। पहली बार इतनी बड़ी संख्या में ई-टिकट भी ब्लॉक किए गए हैं।

जिनके टिकट ब्लॉक, उन्हें एसएमएस से दी जा रही सूचना

- जिनके तत्काल ई-टिकट ब्लाॅक किए गए हैं, उनके मोबाइल नंबर पर रेलवे एसएमएस भेजकर सूचना दे रहा है, लेकिन कई बार एजेंट टिकट बुक करते समय यात्री के बजाय अपना मोबाइल नंबर लिख देते हैं, ऐसे में संबंधित यात्रियों को टिकट ब्लॉक किए जाने की सूचना नहीं मिल सकेगी। ऐसे में यात्री खुद रेलवे की वेबसाइट पर अपना पीएनआर नंबर डालकर चेक कर सकते हैं।

- अगर टिकट ब्लॉक हो गया होगा तो रद्द लिखा आएगा। रिजर्वेशन काउंटर पर भी पीएनआर चेक कर सकते हैं।

यात्रियों द्वार हंगामे के मद्देनजर आरपीएफ की तैनाती की तैयारी

- रेलवे को आशंका है कि जिन यात्रियों का तत्काल ई-टिकट ब्लॉक किया गया और उन्हें इसकी सूचना नहीं मिल पाई तो यात्रा वाले दिन वो हंगामा कर सकते हैं। इसलिए मंडल वाणिज्य प्रबंधक की ओर से मंडलों के विभागीय सुरक्षा आयुक्तों को बड़े स्टेशनों पर अतिरिक्त आरपीएफ जवान तैनात करने को कहा है।

- पश्चिम रेलवे मुंबई मंडल के सूरत, वापी, वलसाड, दादर, मुम्बई सेंट्रल, अंधेरी, बोरीवली, नंदुरबार और बांद्रा टर्मिनस में अतिरिक्त जवान तैनात किए जाएंगे। सूरत में आरपीएफ ने 50 जवान बुलाए हैं। वहीं, जबकि 50 जवान अगले कुछ दिन में आएंगे। रेल यात्रियों को संभालने के साथ ही अन्य कामों में भी इनकी ड्यूटी लगाई जाएगी।

देशभर में चला रहा था रैकेट, प्रति टिकट 700 रु. लेता था

- मध्य रेलवे आरपीएफ ने विजिलेंस, आईआरसीटीसी और कॉमर्शियल ब्रांच के साथ मिलकर एंटी टाउटिंग अभियान चलाया। इसी दौरान अवैध सॉफ्टवेयर से टिकट बुक करते एजेंट सलमान को पकड़ा गया।

- उसके पास से 1.65 लाख नकद और 80 बुक किए गए कंफर्म ई-टिकट के प्रिंट मिले। उसे गिरफ्तार कर आरपीएफ की कस्टडी में रखा गया है। सूत्रों के अनुसार सलमान थाणे से ही देशभर के एजेंटों के टिकट बनाता था। उससे करीब 5400 एजेंट जुड़े हुए थे। वह प्रति टिकट 700 रुपए अतिरिक्त लेता था।

देशभर में एजेंटों के यहां अभियान चलाने के निर्देश

- इस खुलासे के बाद रेलवे ने सभी जोन में ऐसे एजेंटों के खिलाफ छापेमारी अभियान चलाने का निर्णय लिया है। मंडल वाणिज्य प्रबंधक की ओर से जारी आदेश में अवैध ई-टिकट बनाने वालों के खिलाफ अभियान चलाने को कहा गया है। अनधिकृत एजेंटों से जो भी टिकट जब्त किए जाएंगे, उनके पीएनआर नंबर ब्लॉक कर दिए जाएंगे। छह महीने पहले भी यूपी और बिहार में अवैध सॉफ्टवेयर से ई-टिकट बुक करने के मामले सामने आए थे।

X
रैकेट के मास्टरमाइंड सलमान खारैकेट के मास्टरमाइंड सलमान खा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..