--Advertisement--

बेटे की तेरवीं पर मां को आया अटैक, ये खबर सुन मामा का भी हो गया हार्टफेल

30 मिनट में भाई-बहन की सदमें से मौत

Danik Bhaskar | Apr 10, 2018, 06:05 AM IST
सॉफ्टवेयर इंजीनियर धवल पटेल और ज्योत्सनाबेन पटेल सॉफ्टवेयर इंजीनियर धवल पटेल और ज्योत्सनाबेन पटेल

आणंद (सूरत). शहर की एक पटेल फैमिली में 28 वर्षीय बेटे की आकस्मिक मृत्यु से सदमें में आने से ज्योत्सना बेन पटेल की आठ अप्रैल को हॉर्टअटैक से मौत हो गई। बहन के मायकेवालों को पटेल परिवार ने फोन कर रात में ही यह जानकारी दी। बड़ी बहन की आकस्मिक मौत की बात पता चलने पर रमेश पटेल (57) का हार्टफेल हो गया। महज, 30 मिनट में ही भाई-बहन की मौत हो गई। ये तीनों मृत्यु हॉर्टअटैक से हुईं। ये था पूरा मामला...

- सॉफ्टवेयर इंजीनियर धवल पटेल का 28 मार्च को हॉर्टअटैक से निधन हो गया।

- धवल-अहमदाबाद स्थित कंपनी में काम करता था। हॉर्टअटैक वाले दिन वह घर पर ही था।

- बैचेनी होने पर मां ज्योत्सना बेन ने उसे तसल्ली दी और डॉक्टर को बुलाया।

- सिर में बाम लगाई तो धवल मां की गोद में सिर रख कर बैठ गया।

- डॉक्टर के आने से पहले ही मां की गोद में ही धवल ने दम तोड़ दिया।

- बेटे की असमय मृत्यु से ज्योत्सनाबहन को गहरा सदमा लगा। पिता घनश्यामभाई का भी स्वास्थ्य गड़बड़ा गया। हालांकि घनश्यामभाई ने खुद को संभाल लिया।

इलाज शुरू हो गया था


- रविवार को धवल की 13वीं थी। रात में 10:15 बजे ज्योत्सनाबहन की तबियत पुन: बिगड़ी। पांच ही मिनट में उन्होंने दम तोड़ दिया।

- पटेल परिवार ने ज्योत्सनाबहन के मायके में फोन कर जानकारी दी। बहन की मौत की बात सुन कर रमेशभाई पटेल (57) को आघात लगा।

- रात 11 बजे हॉर्टफेल होने से उन्होंने भी दम तोड़ दिया। महज 30 मिनट में ज्योत्सनाबेन और उनके छोटेभाई रमेश पटेल की मौत हो गई।

लड़के का मृतक मामा। लड़के का मृतक मामा।