--Advertisement--

गुजरात: 2654 करोड़ के बैंक कर्ज घोटाला, CBI ने की डायमंड पावर के ठिकानों पर छापेमारी

वडोदरा की इस कंपनी ने बैंकों को गलत जानकारी देकर कर्ज लिया

Danik Bhaskar | Apr 05, 2018, 11:54 PM IST
  • वडोदरा की इस कंपनी ने बैंकों को गलत जानकारी देकर कर्ज लिया
  • बाद में राष्ट्रीय ट्रिब्यूनल मेें दिवालिया अर्जी भी दे दी

वडोदरा. सीबीआई ने 2,654 करोड़ रुपए के बैंक कर्ज घोटाले में गुरुवार को गुजरात के वडोदरा की बिजली के केबल और उपकरण निर्माता कंपनी मैसर्स डायमंड पावर इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के खिलाफ मामला दर्ज किया है। साथ ही कंपनी के डायरेक्टरों के दफ्तर, घर और अन्य कई ठिकानों पर छापेमारी की।


- सीबीआई प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी के प्रमुख एवं डायरेक्टर एसएन भटनागर, अमित भटनागर और सुमित भटनागर के गोरवा स्थित कारपोरेट कार्यालय तथा समलाया के फैक्ट्री और आवास आदि पर छापेमारी की गई। कंपनी ने अपने कारोबार और बिक्री के बारे में गलत जानकारी देकर 11 बैंकों और 8 अन्य वित्तीय कंपनियों के गठजोड़ से 2,654 करोड़ रुपए का कर्ज ले लिया था।

- बताया जा रहा है कि इस मामले में कई बैंक कर्मियों की भी मिलीभगत थी। कंपनी ने रिजर्व बैंक की ओर से इसे काली सूची में डाले जाने के बावजूद बैंकों से इतनी मोटी रकम बतौर कर्ज हासिल कर ली थी। कंपनी ने हाल में राष्ट्रीय कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में दिवालिया अर्जी दी थी। ट्रिब्यूनल ने इसकी परिसंपत्तियों को बेचने पर रोक लगाते हुए एक प्रशासक की नियुक्ति की थी।