--Advertisement--

7 इंस्ट्रक्टर, 45 लोग लेकिन किसी ने नहीं देखा...और डूब गया 13 साल का हर्ष

मामला सूरत के कापडिया हेल्थ क्लब का है। परिजनों ने संचालक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 03:22 PM IST
स्विमिंग पूल में डूबने के दौरान हर्ष। बाएं उसकी मां। स्विमिंग पूल में डूबने के दौरान हर्ष। बाएं उसकी मां।

सूरत (गुजरात). शहर में बुधवार शाम तैराकी सीखने गए 13 साल के एक बच्चे की डूबने से मौत हो गई। लापरवाही का आलम ये रहा कि महज 15 दिन से तैराकी सीखने जा रहे इस बच्चे को बिना फ्लोटर के पूल में उतार दिया गया। घटना के वक्त 6 इंस्ट्रक्टर सहित 45 लोग मौके पर मौजूद थे। लेकिन किसी का ध्यान डूबते बच्चे की ओर नहीं गया। मामला कापडिया हेल्थ क्लब के स्विमिंग पूल का है। परिजनों ने क्लब संचालक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। मां चीखती रही, मेरा बेटा डूब रहा है लेकिन...

- 45 लोगों की मौजूदगी में बच्चे के डूबने का पता तब चला, जब उसकी मां जोर-जोर से चीखने लगी कि उसका बेटा हर्ष डूब गया है।

- इसके बाद उनके बगल में खड़ा एक इंस्ट्रक्टर पूल में कूदा और बेहोशी के हालत में हर्ष को पानी से बाहर निकला। पता चला कि जहां बच्चा डूबा था, उसके ठीक बगल में एक और इंस्ट्रक्टर खड़ा था।
- मौके पर इलाज की व्यवस्था नहीं थी। हर्ष को फौरन हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे डेड डिक्लेयर कर दिया।
- हर्ष मूलत: राजस्थान के सीकर के रहने वाले पिकेंश पोद्दार का बड़ा बेटा था। पिंकेश सूरत में कपड़ा कारोबारी हैं। परिवार वेसू रोड पर नंदनवन-2 में फ्लैट नंबर ए4-1004 में रहता है।

मौत की खबर सुन गिर पड़ा पिता
- डॉक्टरों ने जैसे ही कहा हर्ष इज नो मोर, यह सुन पिता अस्पताल में गिर पड़े। बेटे की मौत के बाद से मां गुमसुम है।
- परिजनों का आरोप है कि हेल्थ क्लब की गलतियों की वजह से हमने बेटा खो दिया। उन्होंने संचालक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।
- 7th क्लास में पढ़ने वाले हर्ष ने 6 मई को क्लब में रजिस्ट्रेशन करवाया था।

आंखों देखी: बगल में हर्ष डूब गया, इंस्ट्रक्टर अंजान रहा
- हर्ष के भाई अंकित ने बताया- 'वो मेरी बुआ का बेटा है। बुआ दोनों बेटों के साथ क्लब गई, तब मैं भी उनके साथ था। हर्ष जब अचानक हमें नजर नहीं आया, तो हम सब उसे खोजने लगे। जब वो नहीं मिला, तो बेचैन हो गए।'
- 'तभी बुआ को अनहोनी की आशंका हुई। बुआ के चिल्लाने के बाद एक इंस्ट्रक्टर पूल में कूदा तो था, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। हर्ष को फर्स्ट एड भी नहीं दिया गया।'

30 साल में कभी नहीं हुआ ऐसा: क्लब मालिक
- वहीं, कापडिया हेल्थ क्लब के मालिक शैलेष कापडिया ने कहा कि हर्ष को पहले से ही तैराकी आती थी इसलिए उसे फ्लोटर नहीं दिया गया।
- 'मैं 30 साल से इस क्लब को चला रहा हूं। लेकिन आज तक ऐसा कभी नहीं हुआ।' हालांकि, लोगों का कहना है कि कुछ साल पहले भी इस पूल में एक शख्स की डूब कर मौत हो चुकी है।

स्केटिंग में स्टेट चैंपियन था हर्ष
हर्ष स्केटिंग में स्टेट लेवल पर चैंपियन रह चुका था। उसे कुछ महीने पहले ही गोल्ड मेडल मिला था। स्केटिंग के साथ ही उसे स्विमिंग सीखने की बहुत इच्छा थी। इसके लिए छोटे भाई के साथ क्लब भेज रहे थे।

हाईलाइट्स
1. संचालक का कहना है कि हर्ष तैरना जानता था इसलिए फ्लोटर नहीं पहनाया। इस पर पिता ने कहा कि अगर स्विमिंग आती, ताे उसे सिखाने पूल क्यों लाते।
2. मेडिकल सर्टिफिकेट जरूरी है, लेकिन नहीं लिया गया। इस पर इंस्ट्रक्टर जयेश भाई ने कहा कि कोई मेडिकल समस्या रही होगी।
3. स्विमिंग पूल पर फर्स्ट ऐड के लिए जरूरी किट या डॉक्टर नहीं था। सीने को 2 बार पंप किया तो बच्चे ने उल्टी की। मतलब, जान बच सकती थी।
4. पूल की गहराई कुल 10 फीट तक है, जहां छोटे बच्चों को नहीं तैराया जाता। जबकि हर्ष जैसे बच्चे गहरे पानी में तैराए जा रहे।
5. हाइट के मुताबिक उसे 5 फीट के दायरे में ही तैराना था, लेकिन इंस्ट्रक्टर ने भी माना कि हर्ष 6 फीट गहराई वाले हिस्से में डूबा।
6. मौके पर 5 इंस्ट्रक्टर मौजूद थे, लेकिन सिर्फ एक ही पूल में बच्चों के साथ था। बाहर वाले भी डूबते हुए हर्ष को देख नहीं सके।
7. आखिर में बच्चा उस जगह डूबा मिला, जहां एक इंस्ट्रक्टर पहले से खड़ा होकर दूसरे बच्चे को तैरना सिखा रहा था।

छोटा भाई देवांश बार-बार पूछता रहा- मम्मी क्या मैं अकेले सोऊंगा, कहां हैं हर्ष भईया? छोटा भाई देवांश बार-बार पूछता रहा- मम्मी क्या मैं अकेले सोऊंगा, कहां हैं हर्ष भईया?
सूरत में वो अपार्टमेंट, जहां मृतक हर्ष का परिवार रहता है सूरत में वो अपार्टमेंट, जहां मृतक हर्ष का परिवार रहता है
X
स्विमिंग पूल में डूबने के दौरान हर्ष। बाएं उसकी मां।स्विमिंग पूल में डूबने के दौरान हर्ष। बाएं उसकी मां।
छोटा भाई देवांश बार-बार पूछता रहा- मम्मी क्या मैं अकेले सोऊंगा, कहां हैं हर्ष भईया?छोटा भाई देवांश बार-बार पूछता रहा- मम्मी क्या मैं अकेले सोऊंगा, कहां हैं हर्ष भईया?
सूरत में वो अपार्टमेंट, जहां मृतक हर्ष का परिवार रहता हैसूरत में वो अपार्टमेंट, जहां मृतक हर्ष का परिवार रहता है
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..