--Advertisement--

हीरा कारोबारी की 13 साल की बेटी बनी संन्यासिन, मोह-माया छोड़ने से पहले काले चश्मे में कराया फोटोशूट

वैश्वी हीरा कारोबारी हितेश मेहता और पीलाबेन मेहता की सबसे छोटी बेटी है।

Danik Bhaskar | Jun 24, 2018, 03:44 PM IST
13 साल की वैष्वी 13 साल की वैष्वी

सूरत (गुजरात). यहां एक हीरा कारोबारी की बेटी ऐशो-आराम की जिंदगी छोड़ संन्यासिन बन गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, 13 साल की वैश्वी मेहता ने शनिवार को खुशी-खुशी सांसारिक सुखों का त्याग कर दिया। उसने संन्यास की दीक्षा ले ली। वैश्वी की कई तस्वीरें भी सामने आई हैं। जिसमें वो सजी-धजी और काले चश्मे में नजर आ रही है। बताया जा रहा है कि वैश्वी के सांसारिक जीवन की ये आखिरी तस्वीर है।

- जानकारी के मुताबिक, वैश्वी हीरा कारोबारी हितेश मेहता और पीलाबेन मेहता की सबसे छोटी बेटी है। तीन साल पहले वैश्वी अपने गुरु के साथ यात्रा पर गई थी।
- इस दौरान तीन हजार किलोमीटर की यात्रा करने के बाद उसने सारे सांसारिक बंधनों को तोड़कर संन्यास के रास्ते पर जाने का फैसला किया। वैश्वी के मां-बाप भी उसके इस फैसले में साथ हैं।
- घरवालों का कहना है कि दो बहनों में वैश्वी सबसे चंचल थी। लेकिन अचानक सांसारिक जीवन से उसका मोहभंग हो गया। नौ आचार्यों व 200 से ज्यादा साधु-साध्वियों की मौजूदगी में उसे संन्यास की दीक्षा दी गई।
- गौरतलब है कि इससे पहले भी सूरत में कई हीरा कारोबारी के बच्चे कम उम्र में जैन मुनि बन चुके हैं।