सूरत

--Advertisement--

गोल्ड दिलाने के बाद मां ने फोन पर पूछा कैसा लग रहा है, हरमीत ने कहा-राजा जैसा अहसास हो रहा है

12 साल में पहली बार टेबल टेनिस के टीम इवेंट में गोल्ड मेडल मिला, सूरत का युवक भी भारतीय टीम में शामिल।

Danik Bhaskar

Apr 10, 2018, 02:23 PM IST

सूरत। ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रही कॉमनवेल्थ गेम्स में जब भारत ने 12 साल में पहली बार टेबल टेनिस में गोल्ड मेडल जीता, तो सूरत का सीना गर्व से चौड़ा हो गया। देश को सोना दिलाने वाली इस टीम में सूरत के हरमीत भी हैं। मैच के तुरंत बाद जब हरमीत की मां अर्चना देसाई ने उसे फोन किया कि कैसा महसूस हो रहा है, तो हरमीत ने कहा कि राजा होने का अहसास हो रहा है। शुभचिंतकों का तांता...

मैच के बाद हरमीत के घर मीडिया कर्मियों और शुभचिंतकों का तांता लगा रहा। मजूरा विधायक हर्ष संघवी ने हरमीत के घर जाकर परिजनों को बधाई दी, जबकि सांसद सीआर पाटिल और लिंबायत विधायक संगीता पाटिल ने फोन कर मां-बाप को बेटे की उपलब्धि के लिए बधाई दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने भी ट्वीट करके बधाई दी।

सूरत में खुशी की लहर

सूरत के हरमीत देसाई ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए भारत को गोल्ड मेडल दिलाया, जिससे सूरत में खुशी की लहर दौड़ गई। ऑस्ट्रेलिया में आयोजित कॉमन वेल्थ गेम्स में टेबल टेनिस में भारत का प्रदर्शन शानदार रहा। भारतीय टीम के सदस्य हरमीत देसाई के शानदार प्रदर्शन की वजह से भारतीय टीम ने नाइजीरिया को हराकर गोल्ड हासिल किया। हरमीत के माता पिता ने हरमीत की उपलब्धि पर खुशी व्यक्त करते हुए एक-दूसरे को चॉकलेट खिलाकर मुंह मीठा करवाया।

Click to listen..