--Advertisement--

पत्नि के सामने हुई पति की दर्दनाक मौत, वो चिल्लाती रह गई फिर भी हसबैंड को नहीं बचा सकी, पांच महीने पहले हुई थी शादी

बस आती देख पत्नी भागते हुए चिल्लाई देखो बस आ रही है...इतने में हादसा हो गया।

Danik Bhaskar | Jun 05, 2018, 11:30 AM IST

. बीमारी का इलाज कराने रिश्तेदार के घर उधार लेने जा रहा था हसबैंड।

. ज्यादातर हादसे बीआरटीएस कोरिडोर से क्रॉसिंग के दौरान होते हैं।

सूरत। सरथाणा दीपकमल के सामने बीआरटीएस कोरिडोर में सोमवार को सिटी बस ने एक युवक को कुचल दिया, जिसकी मौके पर ही मौत हो गई। दरअसल पति-पत्नी कोरिडर क्रॉस कर रहे थे। इतने में अचानक सिटी बस आती देख पत्नी भागते हुए चिल्लाई देखो बस आ रही है...इतने में हादसा हो गया।

- पत्नी तो दूसरी ओर निकल गई, लेकिन उसकी आंखों के सामने ही पति कुचल गया। युवक की मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने बस पर पथराव कर दिया।

- मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को शांत किया। इस हादसे में वराछा के हीरा बाग डॉक्टर हाउस के सामने पुल के नीचे रहने वाले रोहित (18) की मौके पर ही मौत हो गई।

- रोहित की पांच माह पहले ही लक्ष्मीबेन से शादी हुई थी।

बीमार रोहित रिश्तेदार के यहां उधार लेने गया था
पिछले दो-तीन दिन से रोहित बीमार था। दवा लेने के लिए उनके पास पैसे न होने के कारण पत्नी के साथ रिश्तेदार के यहां उधार लेने गया था। वहां से पति-पत्नी सरथाणा दीपकमल मॉल के सामने बीआरटीएस बस में हीराबाग जाने के लिए बस स्टाप पर जा रहे थे। इस दौरान हादसा हो गया।


सिटी और बीआरटीएस बस की स्पीड पर अंकुश नहीं
सोमवार को हुए हादसे के बाद भी सिटी बस चालक फरार हो गया। शहर के बीआरटीएस रूट में चलने वाली बसों की स्पीड पर अंकुश लगाने में महानगर पालिका अब तक नाकाम रही है। इस कारण लोगों को जान गंवानी पड़ रहा है। ज्यादातर हादसे बीआरटीएस कोरिडोर से क्रॉसिंग के दौरान होते हैं। लोगों को संभलने का मौका ही नहीं मिलता।

ऐसे ही हादसों में इतनी मौतें
सिटी बस से हुए हादसों में आए दिन मौतें हो रही हैं। 7 मई को यूनिवर्सिटी गेट के पास किशोर ठुम्मर, 11 मई को अमेजिया पार्क के समीप देवजी राठोड़, 12 मई को खटोदरा जंक्शन पर अंजान और 13 मई को गोड़ादरा मिडास स्क्वॉयर के पास नरेन्द्र सिंह की मौत हो गई। इसके अलावा भी कई लोग सिटी बसों की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं।

मृतक। मृतक।

Related Stories