--Advertisement--

लॉ की स्टूडेंट को किया एग्जाम में बैठने से किया मना, फेसबुक पर लिखा था मम्मी की प्रिंसेस

फैमिली ने कहा- कई बार परीक्षा देने की रिक्वेस्ट की लेकिन नहीं दी अनुमति

Danik Bhaskar | Apr 09, 2018, 02:12 AM IST
मृतका उर्वी जगन मृतका उर्वी जगन

सूरत. यूनिवर्सिटी में लाॅ के प्रथम वर्ष की एक छात्रा ने परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं मिलने के कारण आत्महत्या कर ली। परिजनों का आरोप है कि छात्रा ने परीक्षा में बैठने के लिए डिपार्टमेंट से कई बार अनुराेध किया, लेकिन उसे इजाजत नहीं मिली, जिसकी वजह से वह डिप्रेशन में चली गई थी। उल्लेखनीय है कि लॉ डिपार्टमेंट पिछले कई दिनों से अटेंडेंस को लेकर विवाद चल रहा था। पहले डिपार्टमेंट ने 130 छात्रों की उपस्थिति कम होने की बात कह कर परीक्षा में बैठने से मना कर दिया था, लेकिन बाद में जब विवाद बढ़ा तो डिपार्टमेंट ने अपनी गलती मान ली और छात्रों को बैठने की अनुमति दे दी।

पहले था लिस्ट में नाम बाद में काट दिया था

इस लिस्ट में मृतका का नाम भी शामिल था। बाद में डिपार्टमेंट ने असाइनमेंट जमा करने के लिए एक लिस्ट जारी की, जिसकी अंतिम तारीख 6 अप्रैल थी, लेकिन छात्रा तय डेट पर असाइनमेंट जमा नहीं करा पाई। इसकी वजह से उसे परीक्षा में बैठने से मना कर दिया गया था। बताया जा रहा है कि इसी की वजह से उसने आत्महत्या की।

ये था पूरा मामला


वेसू के सुमन आवास बी- 811 निवासी छात्रा उर्वी जगन परातेे वीर नर्मद दक्षिण गुजरात यूनिवर्सिटी में लाॅ डिपार्टमेंट में प्रथम वर्ष की छात्रा थी। पिछले सप्ताह लाॅ डिपार्टमेंट ने कम उपस्थिति वाले 130 छात्रों की एक एक लिस्ट जारी की। उस लिस्ट में छात्रा का नाम भी शामिल था। लेकिन, विवाद बढ़ने पर डिपार्टमेंट ने अपना फैसला वापस ले लिया। इसके बाद एक और लिस्ट जारी की गई, जिसमें एसाइनमेंट जमा करवाने को कहा गया। लेकिन छात्रा 6 अप्रैल तक असाइनमेंट जमा नहीं करा पाई। वह 7 अप्रैल को पहुंची थी, इसकी वजह से उसका असाइनमेंट नहीं लिया गया। साथ ही उसे कहा गया कि असाइनमेंट नहीं जमा करने के कारण उसे परीक्षा में भी बैठने नहीं दिया जाएगा। इसके बाद छात्रा घर आई और पूरी कहानी अपने पापा जगन परातेे से बताई और फिर अपने रूम में चली गई। दोपहर लगभग 3:30 पर उसने अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

लड़की की फेसबुक आई डी लड़की की फेसबुक आई डी
कॉलेज से मिला नोट कॉलेज से मिला नोट
मृतक स्टूडेंट उर्वी जगन मृतक स्टूडेंट उर्वी जगन