--Advertisement--

योग की ऐसी दीवानी कि छोड् दी मल्टीनेशनल कंपनी की जॉब

ट्रेक्टर, एक्टिवा, बुर्ज खलीफा या समुद्री किनारा, जहां जगह मिले,वहां करती है योग।

Dainik Bhaskar

Jun 21, 2018, 01:34 PM IST
जहां जगह मिले, वहीं करती हैं योग। जहां जगह मिले, वहीं करती हैं योग।

सूरत। आज विश्व योग दिवस है। ऐसे में सूरत की एक क्रेजी गर्ल के बारे में बता रहे हैं कि वह योग के पीछे इतनी दीवानी है कि इसके लिए उसने मल्टीनेशनल कंपनी की जॉब छोड़ दी। उसे जहां भी जगह मिली, तो वह योग करना शुरू कर देती है। बरसों तक मुम्बई में रहकर पूजा गांधी अब सूरत में रहने लगी है। जॉब छोड़ने का विरोध हुआ, पर मैं दृढ़ थी…

पूजा गांधी ने योग के प्रति अपनी दीवानगी पर बात करते हुए बताया कि मैं 5 साल से योग कर रही हूं। मैंने मुम्बई में ही योग का कोर्स किया है। जहां से नताशा नावेल ने कोर्स किया है। शादी के बाद पिछले तीन साल से मैं सूरत में ही योगा की क्लासेस चला रही हूं। मैंने मैनेजमेंट की स्टडी की है। पहले एचआर और बाद में मार्केटिंग के क्षेत्र में मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करती थी। अच्छा वेतन और अच्छी पोस्ट छोड़कर मैंने योग के क्षेत्र आगे बढ़ने का निश्चय किया। घर से ही इसका काफी विरोध हुआ। पर मैंने दृढ़ रहकर अपने काम पर लगी रही। अाज मेरे इस निर्णय पर परिवार और दोस्त गर्व करते हैं।

शादी के बाद पति को भी बनाया योग का दीवाना

पूजा ने बताया कि सूरत में इस समय दो स्थानों पर योग की क्लासेस चल रहीं है। करीब 100 लोगों को योग का प्रशिक्षण दे रही हूं। मेरे साथ मेरे हसबेंड भी योग की ट्रेनिंग देते हैं। उनका अपना बिजनेस भी है, पर योग की क्लासेस में मेरी मदद करते हैं। अब वे भी योग के दीवाने हो गए हैं।

योग की दो हजार रुपए फीस

घर के सारे काम करके पूजा योग के लिए जाती हैं। घर के काम में पति और सास भी हेल्प करते हैं। पूरेे दिन योग की क्लासेस और घर के बीच समन्वय रखती हूं। इसके अलावा योग की फीस दो हजार रुपए लेती हूं। यही नहीं योग थेरेपी भी करती हूं। बेक पेन, डायबिटीस, जीम में थीक नेस होने पर शरीर को नार्मल करने में मदद करती हूं। इसके अलावा प्री-एंड पोस्ट प्रेग्नेंसी में भी योग करवाती हूं। मैंने इसका अलग से सर्टिफिकेट कोर्स भी किया है।

जॉब छोड़ने का काफी विरोध हुआ। जॉब छोड़ने का काफी विरोध हुआ।
बाद में मेरे निर्णय पर सभी ने गर्व किया। बाद में मेरे निर्णय पर सभी ने गर्व किया।
योग प्रशिक्षक के रूप में सूरत में अच्छा नाम है। योग प्रशिक्षक के रूप में सूरत में अच्छा नाम है।
योग के काम में पति का भी सहयोग मिलता है। योग के काम में पति का भी सहयोग मिलता है।
योग की फीस दो हजार रुपए लेती है। योग की फीस दो हजार रुपए लेती है।
X
जहां जगह मिले, वहीं करती हैं योग।जहां जगह मिले, वहीं करती हैं योग।
जॉब छोड़ने का काफी विरोध हुआ।जॉब छोड़ने का काफी विरोध हुआ।
बाद में मेरे निर्णय पर सभी ने गर्व किया।बाद में मेरे निर्णय पर सभी ने गर्व किया।
योग प्रशिक्षक के रूप में सूरत में अच्छा नाम है।योग प्रशिक्षक के रूप में सूरत में अच्छा नाम है।
योग के काम में पति का भी सहयोग मिलता है।योग के काम में पति का भी सहयोग मिलता है।
योग की फीस दो हजार रुपए लेती है।योग की फीस दो हजार रुपए लेती है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..