--Advertisement--

ये है सूरत रेलवे स्टेशन का नया डिजाइन, ये होगी इसकी खासियत

गुजराज स्थापना दिवस आज : पहली बार सिर्फ भास्कर में देखिए सूरत रेलवे स्टेशन का नया डिजाइन

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 02:13 AM IST
मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब का नया डिजाइन। मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब का नया डिजाइन।

सूरत. शहर में मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब का नया डिजाइन तैयार हो गया है, जिसमें नया सूरत स्टेशन भी शामिल है। बस टर्मिनल, मेट्रो स्टेशन, जीएसआरटीसी स्टेशन, सिटी बस टर्मिनल एक ही जगह होंगे। स्टेशन के अंदर ही ब्रिज होंगे, जिससे एक जगह से दूसरी जगह तक पैदल ही जाया जा सकेगा। ट्रांसपोर्ट हब में अधिकतम 40 मंजिल की इमारतें होंगी। प्रोजेक्ट पर काम करने के लिए छह महीने के अंदर कंसल्टेंसी की नियुक्ति हो जाएगी। 2019 में इसका निर्माण शुरू हो जाएगा। पूरे प्रोजेक्ट की डिजाइन तैयार कर रहे दिल्ली की सीपी कुकरेजा आर्किटेक्ट्स फर्म के प्रिंसिपल आर्किटेक्ट दिक्शू कुकरेजा के अनुसार डिजाइन में आंशिक फेरबदल संभव है।

पहली बार राज्य, केंद्र और स्थानीय प्रशासन साथ मिलकर करेंगे काम, 2019 में शुरू हो जाएगा निर्माण

- सभी इमारतों में सोलर पैनल लगेंगे। इमारतें भी इको फ्रेंडली होंगी।
- रेल यात्री सीधे फ्री स्पेश में जाकर बीआरटीएस या जीएसआरटीएस की सुविधा ले सकेंगे।
- स्थानीय मास ट्रांसपोर्ट को प्राथमिकता। स्थानीय ट्रांसपोर्ट प्रभावित न हो, इसलिए प्राइवेट ट्रांसपोर्ट के लिए नीचे स्टैंड बनेंगे।
- परिसर के करीब 14 एकड़ क्षेत्र में जगह-जगह ग्रीनरी। इमारतों पर भी गार्डन होंगे।

यह डिजाइन दिल्ली की सीपी कुकरेजा आर्किटेक्ट्स फर्म ने विशेष तौर पर दैनिक भास्कर को उपलब्ध करवाई।

बस टर्मिनल, मेट्रो स्टेशन, जीएसआरटीसी स्टेशन, सिटी बस टर्मिनल एक ही जगह होंगे। बस टर्मिनल, मेट्रो स्टेशन, जीएसआरटीसी स्टेशन, सिटी बस टर्मिनल एक ही जगह होंगे।
स्टेशन के अंदर ही ब्रिज होंगे, जिससे एक जगह से दूसरी जगह तक पैदल ही जाया जा सकेगा। स्टेशन के अंदर ही ब्रिज होंगे, जिससे एक जगह से दूसरी जगह तक पैदल ही जाया जा सकेगा।
X
मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब का नया डिजाइन।मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब का नया डिजाइन।
बस टर्मिनल, मेट्रो स्टेशन, जीएसआरटीसी स्टेशन, सिटी बस टर्मिनल एक ही जगह होंगे।बस टर्मिनल, मेट्रो स्टेशन, जीएसआरटीसी स्टेशन, सिटी बस टर्मिनल एक ही जगह होंगे।
स्टेशन के अंदर ही ब्रिज होंगे, जिससे एक जगह से दूसरी जगह तक पैदल ही जाया जा सकेगा।स्टेशन के अंदर ही ब्रिज होंगे, जिससे एक जगह से दूसरी जगह तक पैदल ही जाया जा सकेगा।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..