--Advertisement--

राजकोट में 9 साल की मासूम से 15 दिन में तीन बार दरिंदगी, आरोपी पड़ोसी गिरफ्तार

बच्ची ने उसके साथ पहले भी आरोपी द्वारा किए गए दुष्कर्म और कुकर्म की जानकारी दी।

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 07:43 AM IST

नई दिल्ली. बच्चियों से दरिंदगी पर देशभर में मचे बवाल के बीच मंगलवार को यूपी और गुजरात में नाबालिगों से दुष्कर्म के 2 मामले सामने आए। आरोप है कि एटा में एक शख्स ने दुष्कर्म के बाद 8 साल की मासूम की हत्या कर दी। वहीं, राजकोट में पड़ोसी ने 9 साल की बच्ची से 15 दिन में 4 बार दरिंदगी की। पुलिस ने दोनों मामलों के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि पिछले दिनों कठुआ, उन्नाव और सूरत में बेटियों के साथ हुईं रेप की घटनाओं को लेकर विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं।

राजकोट रेप: बच्ची ने मां को बताई पड़ोसी की करतूत

- गुजरात की पीड़ित बच्ची विधवा मां के साथ रहती है। मां घर चलाने के लिए आसपास के कुछ घरों में काम कर करती है। रविवार को जब वो काम से लौटी तो बेटी घर में नहीं थी। आवाज लगाने पर बच्ची पड़ोसी कमलेश उर्फ मुरली कालू भरवाड़ (23) के घर से दौड़ते हुए आई।

- महिला ने उससे घबराहट की वजह पूछी तो बेटी ने बताया कि वह कमलेश के घर खेलने गई थी। कमलेश मोबाइल में अश्लील फिल्म चालू उसने सारे कपड़े उतार दिए और छेड़खानी करने लगा।

- बच्ची ने उसके साथ पहले भी आरोपी द्वारा किए गए दुष्कर्म और कुकर्म की जानकारी दी। गुस्से में महिला कमलेश के घर गई और उसे डांटने-फटकारने लगी। कमलेश फरार हो गया। महिला ने बाद में केस दर्ज कराया।

सूरत रेप: सीसीटीवी और कॉल डिटेल से आरोपियों की तलाश

- 6 अप्रैल को 11 साल के बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में आरोपियों की तलाश के लिए सीसीटीवी फुटेज और आसपास के क्षेत्र के मोबाइल फोन की डिटेल्स खंगाली जा रही है। सूरत पुलिस और क्राइम ब्रांच दोनों टीमें मिलकर आरोपियों की धरपकड़ की कोशिश कर रही है।

- बता दें कि मासूम के शरीर पर 80 से ज्यादा चोट के निशान मिले थे। बच्ची का शव पांडेसरा इलाके में स्टेडियम के पास मिला था। हालांकि शव की शिनाख्त नहीं हो पाई है।

- इस घटना के बाद एक बिल्डर ने पीड़िता की शिनाख्त और आरोपी के बारे में सुराग देने वाले को 5 लाख रु. इनाम देने का एलान किया है। इससे पहले गुजरात के कई इलाकों में लोगों ने कैंडल मार्च निकाला और मुंह पर काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया था।

कठुआ गैंगरेप: सुनवाई चंडीगढ़ शिफ्ट करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अर्जी

- कठुआ गैंगरेप की सुनवाई चंडीगढ़ ट्रांसफर करने की मांग पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा। साथ ही पीड़ित परिवार, उनके सहयोगी तालिब हुसैन और वकील दीपिका सिंह को सुरक्षा मुहैया करवाने के लिए आदेश दिया। अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी।

- पीड़ित परिवार की ओर से सीनियर एडवोकेट इंदिरा जयसिंह ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा कि कठुआ का माहौल ठीक नहीं है। निष्पक्ष सुनवाई के लिए पीड़ित परिवार केस का ट्रायल चंडीगढ़ ट्रांसफर करवाना चाहता है। पीड़िता की वकील को मिल रही धमकियों की जानकारी भी उन्होंने कोर्ट को दी।

- वहीं मामले में सोमवार से जम्मू-कश्मीर की जिला एवं सत्र अदालत में ट्रायल शुरू हुआ। आरोपियों ने क्राइम ब्रांच के आरोप खारिज करते हुए बेकसूर होने का दावा किया। मास्टरमाइंड सांझी राम समेत कई आरोपियों ने नारको टेस्ट करवाने की भी मांग की। कोर्ट ने सुनवाई 28 अप्रैल तक टाल दी।