--Advertisement--

श्मशान में मनाया मृत्यु का आनंदोत्सव, शव के पास हुआ नाचना-गाना

ओशो रजनीश के अनुयायी थे 80 वर्षीय भगवती भाई, अंतिम इच्छा थी कि उनकी मृत्यु का शोक नहीं आनंद मनाया जाए।

Dainik Bhaskar

Jun 27, 2018, 02:05 PM IST
Surat Family Mameber Dance In Funeral In Jahangirpura Area

सूरत, गुजरात। ओशो के एक भक्त के निधन के बाद उनके परिचितों और फैमिली ने श्मशान घाट पर जश्न मनाया। म्यूजिक के बीच डांस हुआ। दरअसल, यह मृतक की अंतिम इच्छा थी। मृतक के अंगों का भी दान किया गया।

- सूरत के जहांगीरपुरा इलाके की श्रीधर सोसायटी के निवासी 80 वर्षीय भगवती भाई पटेल की अंतिम इच्छा थी कि उनकी मृत्यु पर कोई शोक न मनाए। परिवार वाले उन्हें खुशी-खुशी विदा करें।

- मृतक के दामाद दीपक भाई ने बताया, उनके ससुर रजनीश ओशो की विचारधारा के थे। तीन दिन पहले हार्टअटैक से उनका निधन हो गया था।
- भगवती भाई के बेटे अमेरिका में रहते हैं। वे भी ओशो को फॉलो करते हैं। भगवती भाई ने अपने अंगों का भी दान किया था। वो स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे।

शव के पास नाचते गाते लोग। शव के पास नाचते गाते लोग।
ओशो के अनुयायी थे मृतक भगवती भाई पटेल। ओशो के अनुयायी थे मृतक भगवती भाई पटेल।
उनकी अंतिम इच्छा थी कि मेरे शव के पास नाच-गाकर खुशी मनाएं। उनकी अंतिम इच्छा थी कि मेरे शव के पास नाच-गाकर खुशी मनाएं।
X
Surat Family Mameber Dance In Funeral In Jahangirpura Area
शव के पास नाचते गाते लोग।शव के पास नाचते गाते लोग।
ओशो के अनुयायी थे मृतक भगवती भाई पटेल।ओशो के अनुयायी थे मृतक भगवती भाई पटेल।
उनकी अंतिम इच्छा थी कि मेरे शव के पास नाच-गाकर खुशी मनाएं।उनकी अंतिम इच्छा थी कि मेरे शव के पास नाच-गाकर खुशी मनाएं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..