--Advertisement--

हाईप्रोफाइल मर्डर: सूरत से डांग तक के CCTV खंगालती पुलिस

डॉक्टर की पत्नी की हत्या, वाट्सएप में तस्वीर डाले जाने पर हुई पहचान।

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 12:02 PM IST
सूरत के डॉक्टर की पत्नी की हत्या में केवल मोबाइल का ही सहारा। सूरत के डॉक्टर की पत्नी की हत्या में केवल मोबाइल का ही सहारा।

सूरत। यहां लम्बे हनुमान रोड पर पंचरत्न टॉवर में रहने वाले डॉक्टर की पत्नी की लाश वघई पुलिस थाने की सीमा पर मिली। घटना का कोई गवाह नहीं है। महिला ने आखिरी बार किससे बात की, कितने समय तक बात की, यह सब जानने के लिए महिला का मोबाइल फोन का ही सहारा है, जो अभी तक नहीं मिला है। पुलिस सबूत इकट्ठे करने में लगी है। गला दबाकर की गई हत्या…

बी-106, पंचरत्न टॉवर में रहने वाले डॉक्टर नीलेश विराणी की पत्नी बीना (36) की लाश डांग जिले की वघई तहसील के साकरपातण गांव के पुल के पास से मिली। बीना की गला दबाकर हत्या करना पाया गया है। हत्या कहीं और हुई है और लाश को इतनी दूर जाकर फेंक दिया गया है, ऐसा अनुमान है। डांग के एसपी अजित राजीयन ने टेलीफोन पर बताया कि इस समय हत्या की जांच चल रही है। महिला के पति ने इस संबंध में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।

किसी करीबी की मिलीभगत

जिस तरह से घटनाक्रम बना है, उससे लगता है कि बीना जिस व्यक्ति के साथ गई थी, वह उसका करीबी है। क्योंकि बीना द्वारा किए गए विरोध के कोई सबूत नहीं मिले। अब पुलिस सूरत से लेकर डांग तक के सीसीटीवी खंगाल रही है।

महिला पिता के घर से लापता

प्राथमिक जांच में पता चला है कि 27 अप्रैल 2018 को बीनाबेन वराछा में अपने पिता के घर गई थी। शाम 7 बजे के बाद वह बाजार जाने का कहकर वहां से निकली। उसके बाद उसका कोई पता नहीं चला। 28 को सुबह साढ़े दस बजे उसकी लाश मिली। इसका आशय यही हुआ कि हत्या शनिवार की रात को की गई और लाश फेंक दी गई। वघई पुलिस ने महिला की लाश को वाट्सएप में डाला, जिससे उसकी पहचान हो पाई। महिला के पति डॉ. विरानी ने गृहकलह की बात को स्वीकारा है।

अभी तक कुछ भी पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं। अभी तक कुछ भी पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं।
किसी करीबी के शामिल होने की आश्ंका। किसी करीबी के शामिल होने की आश्ंका।
सोशल मीडिया के आधार पर मृतक की पहचान। सोशल मीडिया के आधार पर मृतक की पहचान।
गृह कलह भी हो सकता है हत्या का कारण। गृह कलह भी हो सकता है हत्या का कारण।

Related Stories