--Advertisement--

स्टार्ट होते ही स्कूल वेन में लगी आग, 10 छात्राएं झुलसी

सभी छात्राओं की उम्र 5 से 10 साल के बीच, अस्पताल में कुछ बच्चियां गंभीर।

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 03:55 PM IST
  • वेन सीएनजी से चल रही थी।
  • स्टार्ट होते ही उसमें लगी आग।

सूरत। गुरुवार की दोपहर को एक स्कूल वेन में आग लगने से 10 छात्राएं झुलस गई। सभी के हाथ-पैर प्रभावित हुए हैं। वेन सीएनजी से चल रही थी। सभी छात्राओं की उम्र 5 से 10 साल है। घटना गंभीर होने के बाद भी आग की सूचना फायर ब्रिगेड को नहीं दी गई। आसपास के लोगों ने मदद की और बच्चियों को वेन से दूर किया। सभी घायल अस्पताल में भर्ती...

गुरुवार की दोपहर सिंगणपोर चौराहे पर स्थित कन्या शाला की छात्राओं को स्कूल से लेकर घर पहुंचाने जाती हुई वेन 4.30 बजे जब महक रेसीडेंसी के गेट के सामने से गुजर रही थी, तब उसमें अचानक आग लग गई। इससे 10 बच्चियां झुलस गई। इनके हाथ-पैर झुलस गए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है। आश्चर्य की बात यह है कि आग लगने के बाद भी फायर ब्रिगेड को इसकी सूचना नहीं दी गई।

घायल बच्चियों के नाम

मोक्षा आशीष वघासिया (6), अार्मी अतुलभाई वघासिया (6), सिद्धि जिज्ञेशभाई देसाई (7), धार्मी भावेश भाई लखाणी (10), हेली अल्पेश भाई भिड़किया (7), सैया धर्मेश लखाणी (9)।

लापरवाही सामने आई

वेन में आग लगते ही चालक गोपाल भाई नीचे उतरकर बच्चियों को बाहर निकालने में लग गया। उसकी मदद आसपास के लोगों ने भी की। कई लोग अपनी कार से बच्चियों को अस्पताल पहुंचाने लगे। वेन 11 साल पुरानी है और बच्चों को लाने ले जाने का काम कर रहे ड्राइवर ने इसे 2 साल पहले ही किसी अन्य व्यक्ति से खरीदा था। गुरुवार को वेन में आग लग जाने के बाद पुलिस ने वाहन के मालिक को बुलाकर पूछताछ की और जाने दिया। जबकि गाड़ी मालिक के पास स्कूल के काम के लिए गाड़ी चलाने की इजाजत नहीं है और न ही कार मालिक ने आरटीओ से किसी तरह का परमिशन लेटर लिया है।