--Advertisement--

ये हैं 8 साल के दो हिंसक शेर, जो सामने आता है उसी पर टूट पड़ते हैं

यह जोड़ी एक साल में कर चुकी है तीन शेरों की हत्या

Dainik Bhaskar

May 10, 2018, 03:43 AM IST
एक साल पहले चांदगढ़ की इस जोड़ी ने अंटाणिया में छह महीने के शेर को मार दिया। एक साल पहले चांदगढ़ की इस जोड़ी ने अंटाणिया में छह महीने के शेर को मार दिया।

लीलिया(सूरत). चांदगढ़ के ये दोनों शेर खूंखार और हत्यारे हैं। यह जोड़ी अब तक तीन शेरों की हत्या कर चुकी है। पूरे जंगल में इन्हें रोकने वाला कोई नहीं है। कोई दूसरा जानवर इनके सामने भी आना नहीं चाहता है। इसका कारण यह है कि दोनों बहुत खूंखार और ताकतवर हैं। ये दोनों दूसरे शेरों के साथ जिंदगी-मौत का खेल खेलते हैं। यह जोड़ी अपनी एरिया छोड़कर दूसरे इलाकों में झगड़ा करने निकल पड़ती है। जो सामने पड़ता है उसी पर टूट पड़ते हैं। जब तक गुस्सा शांत नहीं होता है तब तक लड़ते रहते हैं। एक साल में यह जोड़ी तीन शेरों की हत्या कर चुकी है। इलाका होता है शेरों का...

शेरों की अपनी टेरेटरी होती है वे अपना इलाका छोड़कर बाहर नहीं जाते हैं। अपने इलाके से जब भी बाहर जाते हैं तो दूसरे शेरों से जंग होती है। एक दूसरे पर कब्जा जमाने के लिए जिंदगी और मौत का खेल खेलते हैं। अमरेली के चांदगढ़ में रहने वाले आठ साल के इन दोनों शेरों की भी यही आदत है। दोनों हिंसक हैं, खूंखार हैं। हालांकि अभी तक मनुष्य पर हमला नहीं किए हैं पर सामने आने वाले दूसरे शेरों को लहूलुहान कर देते हैं। हाल ही में इंगाेराणा की सीमा में एक शेर को मारने के बाद यह जोड़ी वापस अपने इलाके में चली गई। यह जोड़ी अपने इलाके में रहती है पर क्रांकच से सावरकुंडला और लाठी के लुवारिया तक चक्कर लगाती रहती है।

दूसरे शेरों के इलाकों में भी सैर करती है यह जोड़ी


इस जोड़ी की सीमा चांदगढ़ है, पर ये इसे नहीं मानते हैं। दोनों शेरों की जब इच्छा होती है तब लीलिया के शेढावदर से क्रांकच होते हुए सावरकुंडला और वहां से लीलिया के बवाडी, बवाडा, इंगोराणा, अंटाणिया, भोरींगडा, कुताणा, साजणटींबा और लाठी के लुवारिया तक सैर करते हैं।


इस जोड़ी पर वन विभाग की नजर है : आरएफओ


आरएफओ प्रजापति ने बताया कि दोनों शेरों की इस जोड़ी पर वन विभाग नजर रखे हुए है। इंगोराणा में एक शेर के साथ हुई लड़ाई में ये दोनों घायल हुए हैं या नहीं वन विभाग इसकी भी जानकारी इकट्‌ठा कर रहा है।

छह महीने पहले अंटाणिया में छह साल के शेर पर हमला करके हत्या कर दी। पिछले हफ्ते इस जोड़ी ने इंगोराणा में 7 साल के एक और शेर की हत्या की।

X
एक साल पहले चांदगढ़ की इस जोड़ी ने अंटाणिया में छह महीने के शेर को मार दिया।एक साल पहले चांदगढ़ की इस जोड़ी ने अंटाणिया में छह महीने के शेर को मार दिया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..