--Advertisement--

नदी किनारे हाथ से गड्डा खोदती हैं महिलाएं, निकलता है पानी तो मिलता है पीने का पानी नहीं तो करती हैं संघर्ष

नदी के किनारे गड्‌ढा खोदकर पानी भरते हैं यहां भी पानी भरने के लिए लंबी लाइन लगती है।

Danik Bhaskar | May 06, 2018, 07:38 AM IST
नदी किनारे गड्डा खोदतीं महिलाएं। नदी किनारे गड्डा खोदतीं महिलाएं।

संखेड़ा(सूरत). संखेड़ा तहसील के सरसिंडा काजी नई वसाहत में महाराष्ट्र के लोग रहते हैं। यहां पिछले 27 साल से पीने के पानी की समस्या है। ग्रामीण आज भी गांव से आधा किमी दूर उच्छ नदी से पीने का पानी लाने को मजबूर हैं। नदी के किनारे गड्‌ढा खोदकर पानी भरते हैं यहां भी पानी भरने के लिए लंबी लाइन लगती है।

- नर्मदा के विस्थापित आज भी पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। गांव में तीन हैण्डपंप लगे हुए हैं।
- इसे कई बार चलाने के बाद गंदा पानी आता है। जो पीने लायक नहीं है।
- गांव से आधा किमी दूर उच्छ नदी है। नदी के किनारे तीन-चार फुट गड्‌ढा खोदने पर पानी निकलता है।