Hindi News »Gujarat »Vadodra» Thick Wire Ring In The Ring, The Tail Has Been Cut

मगर को मारा, फिर निर्ममता से उसकी पूंछ काटकर ले गए

घायल अवस्था में 24 घंटे तक तड़पता रहा मगर, उसके गले पर बंधा हुआ वायर था, आज पीएम होगा।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 22, 2017, 12:22 PM IST

  • मगर को मारा, फिर निर्ममता से उसकी पूंछ काटकर ले गए
    +5और स्लाइड देखें
    भास्कर ने मगर की हत्या की सूचना वनविभाग को दी।

    भुज। यहां से 17 कि.मी. दूर मकनपर(घोसा) में एक मगरमच्छ की हत्या कर उसे बाहर फेंक दिया गया। हत्यारे निर्ममता से मगर की पूंछ काटकर ले गए। गांव के तालाब के पास मगर की डेडबॉडी मिली। उसकी गरदन पर एक वायर लिपटा हुआ था, जिससे यह पता चलता है कि उसकी गला दबाकर हत्या की गई, फिर उसके मुंह पर लोहे की किसी चीज से वार भी किया गया है।7 साल की सजा हो सकती है…

    भास्कर की टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया, तो पाया कि मगरमच्छ की हत्या निर्ममता से की गई है। गांव के निवासी इस्माइल भाई समा ने बताया कि मगर के मारे जाने की सूचना उन्होंने वनविभाग को दे दी है, पर अभी तक कोई नहीं पहुंचा है। वन्यप्राणी अधिनियम के तहत मगरमच्छ को मारने वाले पर यदि आरोप सिद्ध हो जाता है, तो उसे सात साल की सजा और 25 हजार के जुर्माना लग सकता है। मुख्य वन संरक्षक के.एस.रंधावा ने बताया कि कच्छ में मगरों की संख्या करीब 500 है। इसमें से अधिकांश भुज और नखत्राणा में हैं।

    आखिर पूंछ ही क्यों?

    सवाल यह उठाया जा रहा है कि मगरमच्छ की पूंछ ही क्यों काटकर ले गए। इसके जवाब में यही कहा जा रहा है कि उसका उपयोग पौरुष बढ़ाने के लिए किया जाता है, इसलिए पूंछ की तस्करी की गई है। गांव वालों ने बताया कि यहां जितने भी मगरमच्छ हैं, वे अहिंसक हैं। उनके द्वारा कभी किसी पर हमला नहीं किया गया। कई बार तो ऐसा भी हुआ है कि गाय तालाब का पानी पी रही है और बाजू में ही मगरमच्छ पसरा हुआ है। आज मगरमच्छ का पीएम किया जाएगा, जिससे उसकी हत्या के बारे में और जानकारी मिल पाएगी। भास्कर द्वारा सूचना दिए जाने के बाद वनविभाग सक्रिय हुआ और कुछ लोग घटनास्थल पहुंचे थे।

    आगेकी स्लाइड्स में देखें PHOTOS

  • मगर को मारा, फिर निर्ममता से उसकी पूंछ काटकर ले गए
    +5और स्लाइड देखें
    मगर की हत्या करने वाले को 7 साल की कैद हो सकती है।
  • मगर को मारा, फिर निर्ममता से उसकी पूंछ काटकर ले गए
    +5और स्लाइड देखें
    घायल अवस्था में मगर 24 घंटे तक जीवित रहा।
  • मगर को मारा, फिर निर्ममता से उसकी पूंछ काटकर ले गए
    +5और स्लाइड देखें
    ग्रामीण इस्माइल समा।
  • मगर को मारा, फिर निर्ममता से उसकी पूंछ काटकर ले गए
    +5और स्लाइड देखें
    कच्छ में केवल 500 मगर, अधिकांश भुज-नखत्राणा में।
  • मगर को मारा, फिर निर्ममता से उसकी पूंछ काटकर ले गए
    +5और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Vadodara news News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Thick Wire Ring In The Ring, The Tail Has Been Cut
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Vadodra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×