--Advertisement--

रोजगार का गुजरात मॉडल: एमए, बीएड वाला सफाईकर्मी

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 03:47 PM IST

मुझे इस नौकरी को पाने के लिए कुछ भी लेना-देना नहीं पड़ा, यही बहुत है-पीयूष

देवगढ़ बारिया में नाली साफ करता पीयूष पारेख। देवगढ़ बारिया में नाली साफ करता पीयूष पारेख।

देवगढ़ बारिया। गुजरात में बेराेजगारी लगातर बढ़ रही है। इस हालात को बयां करती है यह तस्वीर, जो देवगढ़ बारिया के पीयूष पारेख की है, जो एम.ए., बी.एड. है, जिसने सफाईकर्मी का काम शुरू किया है। हाल ही में पुलिस बल में भी जो भर्ती हुई, उसमें 12 वीं पास लोगों से आवेदन मंगाए गए थे, पर उसमें इंजीनियर, एमबीए आदि उच्च शिक्षा प्राप्त युवकों ने आवेदन किया था। नौकरी बिना पैसे के मिल गई…

पीयूष से जब पूछा गया कि उसने नगर पालिका में सफाईकर्मी की नौकरी क्यों स्वीकार की? तो उसने दिलचस्प जवाब दिया- उसका कहना था कि यह नौकरी मुझे बिना कुछ लिए-दिए मिल गई। यही बहुत है। पीयूष ने आईटीआई से मेकेनिक और सेनेटरी इंस्पेक्टर का कोर्स भी किया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
X
देवगढ़ बारिया में नाली साफ करता पीयूष पारेख।देवगढ़ बारिया में नाली साफ करता पीयूष पारेख।
प्रतीकात्मक तस्वीरप्रतीकात्मक तस्वीर
Astrology

Recommended

Click to listen..