--Advertisement--

गुजरात की स्थापना के पहले वडोदरा का शानदार वैभव, देखें तस्वीरें…

18-19 वीं सदी में वडोदरा का वैभव विदेशों की तरह आलीशान था।

Danik Bhaskar | May 01, 2018, 02:41 PM IST
ईस्वी सन् 1890 की  वडोदरा के  वैभवी झूलते ब्रिज की तसवीर ईस्वी सन् 1890 की वडोदरा के वैभवी झूलते ब्रिज की तसवीर

वडोदरा। आज गुजरात का स्थापना दिवस है। इस अवसर पर कई स्थानों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। गुजरात राज्य की स्थापना के पहले वडोदरा के ठाट और वैभव देखने लायक था। कई बार यह विदेशों के वैभव को भी मात देता सा लगता है। यह शहर शिक्षा और नागरिक सुविधाओं को लेकर काफी उन्नत था। गायकवाड़ी स्टेट वडोदरा अपने आप में अनोखा…

गुजरात अपने आर्थिक सशक्तिकरण के कारण आज भले ही देश-दुनिया में अपना नाम कमा रहा है। परंतु आजादी के पहले और वृहद मुम्बई के समय भी गुजरात के कितने ही शहर खूब ही समृद्ध थे। उसमें भी गायकवाड़ी स्टेट वडोदरा अपनी शिक्षा व्यवस्था और नागरिक सुविधाओं को लेकर उन्नत माना जाता था। 18 और 19 वीं सदी में ब्रिटेन समेत यूरोप और पश्चिमी देशों में मिलने वाली स्कूल्स, लायब्रेरी,बड़े बाग-बगीचे, राजसी ठाट-बाट इस शहर में भी देखने को मिलता था। वडोदरा के वैभव की ऐतिहासिक तस्वीरों का सफर यहां प्रस्तुुत है। ऐसी तस्वीरें बहुत कम देखने को मिलेंगी।

1880 में वडोदरा का बैंक रोड 1880 में वडोदरा का बैंक रोड
1880 में नजरबाग पैलेस. 1880 में नजरबाग पैलेस.
1880 में कन्या शाला. 1880 में कन्या शाला.
1880 में पुरानी  कोठी. 1880 में पुरानी कोठी.
1890 में हाथी पर सोना की अंबाडी. 1890 में हाथी पर सोना की अंबाडी.
1890 में गोल्डन कार्ट (सोने की बैलगाड़ी) 1890 में गोल्डन कार्ट (सोने की बैलगाड़ी)
1890 में  सुरसागर तालाब 1890 में सुरसागर तालाब
1890 में एम.एस.यूनिवर्सिटी. 1890 में एम.एस.यूनिवर्सिटी.
1890 में मोतीबाग पैलेस. 1890 में मोतीबाग पैलेस.
1890 में एम.जी.रोड 1890 में एम.जी.रोड
1890 में मकरपुरा पैलेस. 1890 में मकरपुरा पैलेस.
1890 में लक्ष्मी विलास पैलेस स्थित दरबार हॉल. 1890 में लक्ष्मी विलास पैलेस स्थित दरबार हॉल.
1890 में लक्ष्मी विलास पैलेस. 1890 में लक्ष्मी विलास पैलेस.