• Hindi News
  • Happylife
  • American Scientists Advise To Experts; Six Month Baby Don't Sleep For Eight Hours

वैज्ञानिकों की पेरेंट्स को सलाह:50% बच्चे रात में 8 घंटे लगातार नहीं सोते, बदलता रहता है स्लीपिंग पैटर्न; यह कोई समस्या नहीं

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • कनाडा की मॉन्ट्रियल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने किया दावा
  • कहा- हर रात बच्चे का स्लीप पैटर्न बदल सकता है

अक्सर पेरेंट्स की शिकायत होती है कि बच्चे की नींद नहीं पूरी हो पाती। वे थोड़ी देर सोने के बाद जाग जाते हैं। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने रिसर्च के जरिए इस सवाल का जवाब दिया है। वैज्ञानिकों का कहना है, 6 माह तक की उम्र वाले 50 फीसदी बच्चे रात में लगातार 8 घंटे नहीं सोते।

44 नवजातों पर हुई रिसर्च
बच्चों का स्लीप पैटर्न समझने के लिए वैज्ञानिकों ने दो हफ्ते तक 44 नवजातों पर नजर रखी। इनमें 22 लड़के और 22 लड़कियां थीं। रिसर्च के दौरान इनमें से 50% बच्चे लगातार 6 घंटे तक नहीं सोए।

सलाह- पेरेंट्स को परेशान होने की जरूरत नहीं
रिसर्च कहती है, बच्चों के सोने का तरीका बदलता रहता है। अगर बच्चा रात में नहीं सोता है तो पेरेंट्स को परेशान होने की जरूरत नहीं क्योंकि हर रात इनका स्लीप पैटर्न बदल सकता है। कभी कम तो कभी ज्यादा सो सकते हैं।

ऐसा रहा सोने का पैटर्न
यही नवजात जब 6 महीने के हो गए तब इनकी मांओं से सवाल पूछे गए। उन्हें एक डायरी दी गई। 13 रातों तक बच्चे ने लगातार सबसे लम्बी नींद कब ली, इसे डायरी में लिखना था। औसतन मांओं का जवाब था कि उनका बच्चा लगातार 5 रातों तक 6 घंटे सोया। मात्र 3 रातों तक वह 8 घंटे सोया।