• Hindi News
  • Happylife
  • Antiviral Oral Drug Molnupiravir Completely Suppresses Coronavirus Transmission Within 24 Hours In Ferrets, Claims Study

कोरोना की एक और दवा:क्या है कोरोना को 24 घंटे में रोकने वाली एंटी-वायरल ड्रग मोल्नूपीराविर जो क्लीनिकल ट्रायल में सफल रही

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने रिसर्च में किया दावा
  • कहा, वायरल पार्टिकल्स घटे, जानवर पर दवा का ट्रायल सफल रहा

दुनियाभर के लोगों को वैक्सीन लगने का बेसब्री से इंतजार है लेकिन अभी भी दवाओं से कोरोना को रोकने की कोशिशें जारी हैं। जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने रिसर्च में दावा किया है कि नई एंटीवायरल दवा मोल्नूपीराविर कोरोना वायरस को खत्म करती है। यह ओरल ड्रग है और 24 घंटे के अंदर संक्रमण को रोकती है। जानवरों पर हुए क्लीनिकल ट्रायल में यह सफल रही है। जल्द ही ह्यूमन ट्रायल शुरू हो सकता है।

हालत नाजुक रोकेगा ड्रग
मोल्नूपीराविर दवा को फार्मा कम्पनी मर्क और रिजबैक मिलकर बना रहे हैं। दावा किया गया है कि इस दवा को खाने से मरीज की सेहत में जल्दी सुधार हो सकेगा और हालत नाजुक होने से रोका जा सकेगा।

क्या है मोल्नूपीराविर दवा
मोल्नूपीराविर एक एंटी-वायरल ड्रग है जिसकी खोज इन्फ्लुएंजा के इलाज के लिए हुई थी। यह ओरल ड्रग है जो आसानी से मरीजों को दी जा सकती है। इस दवा की खोज करने वाली रिसर्च टीम के हेड डॉ. रिचर्ड प्लेम्पर का कहना है, यह वायरल पार्टिकल्स की संख्या को घटाती है। इस दवा का क्लीनिकल ट्रायल जब फेरेट (जानवर) पर किया तो देखा गया कि हालत नाजुक नहीं हुई। वायरस का असर भी कम हुआ। क्लीनिकल ट्रायल में अब तक नतीजे उम्मीद जगाने वाले आए हैं। जल्द ही इसका ह्यूमन ट्रायल शुरू हो सकता है।

देश में कोरोना के एक्टिव मामले घटे

दुनिया में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या के बीच भारत के लिए अच्छी खबर है। एक्टिव केस के मामले में भारत अब 7वें से 8वें नंबर पर पहुंच गया है। मतलब अब भारत दुनिया का 8वां देश है जहां सबसे ज्यादा एक्टिव केस यानी ऐसे मरीज हैं जिनका इलाज चल रहा है। ऐसे मरीजों की संख्या 3 लाख 84 हजार है। बाकी 91 लाख 79 हजार लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 1 लाख 41 हजार मरीजों की मौत हो चुकी है। अब तक 97 लाख 5 हजार लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

एक्टिव केस के मामले में सबसे खराब हालत अमेरिका की है। यहां अभी 60.96 लाख ऐसे मरीज हैं जिनका इलाज चल रहा है। 89.83 लाख लोग ही अब तक ठीक हो सके हैं। रिकवरी के मामले में भी भारत की स्थिति टॉप-10 संक्रमित देशों में सबसे बेहतर है। यहां हर 100 मरीजों में 95 लोग ठीक हो रहे हैं, जबकि एक की मौत हो रही है।

ये भी पढ़ें

खबरें और भी हैं...