कोविड से रिकवरी के बाद मरीजों की परेशानी:हेयरडाई कराने के बाद एलर्जी से जूझ रहे मरीज, स्किन पर चकत्ते और जलन कर रही परेशान; कलर कराने से 48 घंटे पहले पैच टेस्ट की सलाह

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोविड से रिकवरी के बाद मरीजों में कई नए लक्षण सामने आ रह हैं। हालिया मामले एलर्जी से जुड़े हैं। UK में कोरोना को मात दे चुके लोग हेयर डाई का इस्तेमाल करने के बाद एलर्जी से जूझ रहे हैं। इसे रोकने के लिए हेयर ड्रेसर और ब्यूटीशियन की संस्था नेशनल हेयर एंड ब्यूटी फेडरेशन (NHBF) ने अलर्ट जारी की किया है।

NHBF ने यूके में सैलूंस के लिए एडवाइजरी जारी की है। इसमें कहा गया है कि कस्टमर के बालों में हेयरडाई करने से 48 घंटे पहले पैच टेस्ट जरूर करें। इससे समझा जा सकेगा कि हेयर कलर के बाद इंसान को एलर्जी होगी या नहीं।

एलर्जी के कई मामले सामने आ रहे
यूके के कई हेयरड्रेसर्स का कहना है, कोविड होने के बाद हेयरडाई कराने वाले लोगों में एलर्जी के मामले सामने आ रहे हैं। इनमें स्किन पर चकत्ते पड़ना और जलन जैसे लक्षण दिख रहे हैं। कई रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है कि ऐसे मामले सर्दियों में शुरू हुए थे जो अभी भी जारी हैं।

मरीज ने बताई आपतीबी
बीबीसी की एक रिपोर्ट में यूके की गेमा नाम की महिला ने अपनी आपबीती शेयर की है। गेमा कहती हैं, वो पिछले 10 साल से एक ही हेयरडाई का इस्तेमाल कर रही हैं। लेकिन कुछ समय पहले एडवाइजरी जारी होने के बाद जब उसी हेयरडाई का मुझ पर पैच टेस्ट किया तो एलर्जी हो गई। एलर्जी इतनी गंभीर थी कि इसका बुरा असर सिर की स्किन और चेहरे पर हुआ। कान के पिछले हिस्से में तेज जलन महसूस हो रही थी।

गेमा हाल ही में कोरोना से उबरी हैं। वो जिस सैलून में हेयरडाई कराने जाती हैं, उसका कहना है, ऐसे ही 4 और मामले उनके यहां देखे जा चुके हैं। इसीलिए अब सभी क्लाइंट्स के लिए पैच टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है।

ऐसा क्यों हो रहा, वैज्ञानिकों ने शुरू की जांच
कोरोना से रिकवरी के बाद ऐसा क्यों हो रहा है, वैज्ञानिकों के पास भी इसका कोई जवाब नहीं है। इसे समझने के लिए इम्पीरियल कॉलेज लंदन के विशेषज्ञों ने जांच शुरू की है। कुछ समय पहले NHBF मान रहा था, एलर्जी के मामले उन लोगों में सामने आ रहे है जिन्होंने लम्बे लॉकडाउन के कारण काफी समय से हेयरडाई नहीं कराई है।

NHBF के चीफ एग्जीक्यूटिव रिचर्ड लैम्बर्ट का कहना है, अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि कोविड ही इसकी एकमात्र मुख्य वजह है। इम्यून सिस्टम पर बुरा असर पड़ने के दूसरे कारण भी हो सकते हैं।

घर में हेयर डाई करने वालों को सबसे ज्यादा खतरा

रिचर्ड कहते हैं, सैलून में सख्ती से पैच टेस्ट का पालन किया जा रहा है, लेकिन सबसे ज्यादा खतरा उन लोगों के साथ है जो घर पर हेयरडाई करते हैं। ये लोग ज्यादातर हेयरडाई कंपनी के निर्देशों का पालन नहीं करते और पैच टेस्ट भी नहीं करते। ऐसे में हम सलाह देते हैं कि हेयर कलर हमेशा अनुभवी प्रोफेशनल्स से ही कराएं।

खबरें और भी हैं...