• Hindi News
  • Happylife
  • Coronavirus Vaccine Updates More Than 30% Of Side effects Caused By Anxiety, Not Resultant Of COVID 19 Vaccine

सुई और साइड इफेक्ट के डर ने बढ़ाई बेचैनी:वैक्सीन लगने के बाद 30% तक साइडइफेक्ट की वजह है बेचैनी, महिलाओं में इसके मामले ज्यादा; भारतीय इम्युनाइजेशन कमेटी की रिसर्च

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वैक्सीन लगने के बाद 30 फीसदी से अधिक लोगों में साइड इफेक्ट की वजह है बेचैनी। यह खुलासा वैक्सीन के साइड इफेक्ट पर रिसर्च करने वाली नेशनल एडवर्स इवेंट्स फॉलोइंग इम्युनाइजेशन कमेटी ने किया है। कमेटी ने ऐसे 88 मामलों पर स्टडी की। इनमें से 22 मामलों में साइड इफेक्ट की वजह बेचैनी सामने आई। 28 जून को स्टडी पूरी होने के बाद नतीजे जारी किए गए हैं।

महिलाओं में बेचैनी के मामले ज्यादा
रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक, पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में बेचैनी के मामले अधिक सामने आए हैं। इस बेचैनी की एक बड़ी वजह है सुई से लगने वाला डर। इसे नीडिल फोबिया कहते हैं। जिन 22 लोगों को बेचैनी की शिकायत हुई उनमें से 16 लोगों ने कोविशील्ड लगवाई और बाकियों ने कोवैक्सीन का डोज लिया था।

एक्सपर्ट कहते हैं, इस तरह की बेचैनी को पोस्ट वैक्सीनेशन का साइड इफेक्ट नहीं मानना चाहिए। कोविड की वैक्सीन अभी नई है इसके कितने साइड इफेक्ट हो सकते हैं, यह पूरी तरह से पता नहीं चल पाया है। इसलिए लोग वैक्सीन लगवाने के बाद जरूरत से ज्यादा चिंता करते हैं। नतीजा, बेचैनी बढ़ती है। इसकी एक वजह यह भी है। वैक्सीन लेने के बाद नींद न आना, सांस लेने में दिक्क्त होने जैसे लक्षण साइड इफेक्ट के दायरे में आते हैं।

बेचैनी से वैक्सीन पर क्या असर पड़ेगा
इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल के सीनियर सायकियाट्रिस्ट डॉ. संदीप वोहरा कहते हैं, वैक्सीन लेने के बाद साइड इफेक्ट होने का डर स्थिति को बिगाड़ता है। बेचैनी के कारण कुछ कोविड वैक्सीन का असर कम हो सकता है। बेचैनी और तनाव दोनों ही सीधे तौर पर रोगों से लड़ने वाले इम्यून सिस्टम को कमजोर बनाते हैं। इससे बीमारी से लड़ने की क्षमता घटती है और सूजन की वजह भी बन सकती है।

डॉ. वोहरा कहते हैं, कई लोगों को सुई से डर लगता है। इससे निपटने के लिए उन लोगों को आगे आकर जागरुकता फैलानी चाहिए जो वैक्सीन लगवा चुके हैं। इस तरह नए लोगों में कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और डर घटेगा।

इस बेचैनी से बचने के लिए ये बातें ध्यान रखें

  • वैक्सीन लगवाने जाएं तो अपने मन से साइड इफेक्ट होने का डर निकाल दें, ट्रायल में साबित हो चुका है कि वैक्सीन सेफ है।
  • वैक्सीन लेने से कुछ दिनों पहले तक अपनी नींद पूरी करें, अल्कोहल से दूरी बनाएं और बेवजह चिंता करना छोड़ दें।
  • इंजेक्शन लगने की एक छोटी सी प्रक्रिया है, इससे डरने की जरूरत नहीं है। इसे लगने के दौरान अपने मन को डायवर्ट करें।
खबरें और भी हैं...