• Hindi News
  • Happylife
  • Europe 43000 Premature Death; All You Need To Know About Green Space Research Report

चौंकाने वाली रिपोर्ट:यूरोप के 900 शहरों में हरियाली न होने के कारण हर साल हो रहीं 43 हजार अकाल मौतें, दावा; आसपास मौजूद ग्रीनरी बीमारियों का रिस्क घटाती है

10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

यूरोप में हर साल 43 हजार अकाल मौतें हो रही हैं। इसकी वजह चौंकाने वाली है। यूरोप के 900 शहरों में होने वाली ऐसी मौतों की वजह है वहां हरियाली न होना। यह दावा बार्सिलोना इंस्टीट्यूट ऑफ फॉर ग्लोबल हेल्थ शोधकर्ताओं ने अपनी हालिया रिसर्च रिपोर्ट में किया है।

हरियाली मौत का खतरा कैसे घटाती है, इसे समझें
शोधकर्ताओं की रिपोर्ट में यह बताया गया है कि हरियाली आखिर कैसे मौत का खतरा कम करती है। रिसर्च के मुताबिक, जिन शहरों में पार्क हैं, वहां एयर क्वालिटी में सुधार दिख रहा है, यानी प्रदूषण कम है। लोग हरियाली के बीच एक्सरसाइज कर रहे हैं और वजन घटा रहे हैं। ये पार्क उनके दिल और फेफड़ों को हेल्दी रहने में अहम रोल अदा कर रहे हैं। यह तनाव और अनिद्रा को भी दूर कर रहे हैं।

रिसर्च रिपोर्ट कहती है, आपके आसपास मौजूद हरियाली शारीरिक और मानसिक रूप से सेहतमंद रखने में मदद करती है। इतना ही नहीं, ये उम्र लम्बी करने के साथ बढ़े हुए ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करती है। इस तरह इंसान लम्बे समय तक स्वस्थ रहता है और बीमारियों का रिस्क कम रहता है।

हरियाली कितनी जरूरी है WHO से समझिए
हरियाली की कमी से मौत का खतरा बढ़ता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी इस पर अपनी गाइडलाइन जारी कर चुका है। WHO कहता है, आपका घर हरियाली वाले क्षेत्र से 300 मीटर के दायरे में होना चाहिए।

इससे पहले यूके की प्लेमाउथ यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अपनी रिसर्च में कहा है, अगर आपके घर के आसपास हरियाली है और आप उसे देखते हैं तो नशे की आदत में भी सुधार होता है। ऐसे इंसान में अल्कोहल, सिगरेट और नुकसान पहुंचाने वाली चीजों के इस्तेमाल करने की इच्छा कम होती है।

रिसर्च हुई कैसे, 5 पॉइंट में समझिए

  • शहर में कितनी हरियाली है, इसका पता लगाने के लिए शोधकर्ताओं सैटेलाइट तस्वीरों का प्रयोग किया।
  • इन तस्वीरों से यह पता लगाया कि इंसान ग्रीन बेल्ट से कितनी दूरी पर रह रहा है। ऐसे लोगों का हेल्थ रिकॉर्ड जांचा गया।
  • 866 शहरों की आबादी के आंकड़ों का विश्लेषण किया गया। इनमें हुई प्राकृतिक मौतों की जांच भी की गई।
  • इसके अलावा पिछले अध्ययनों से हरियाली की कमी और मौतों के बीच कनेक्शन को समझा गया।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन का प्रयोग करके कितनी मौतों को रोका जा सकता था, इसकी एनालिसिस भी की गई।

ये रहे परिणाम
रिसर्च के दौरान पाया गया कि हरियाली की कमी और मौतों के बीच एक कनेक्शन है। यूरोप में हर साल करीब 43,00 मौतों की वजह भी यही है। वहीं, यूके के 113 शहरों में हर साल इससे 7,052 मौतें हो रही हैं।

बार्सिलोना इंस्टीट्यूट फॉर ग्लोबल हेल्थ में अर्बन प्लानिंग विभाग के डायरेक्टर मार्क जे कहते हैं, रिसर्च के आंकड़े बताते हैं कि यूरोपीय शहरों में हरियाली के लेवल में नए बदलाव करने की जरूरत है। जैसे- ग्रीन रूफ और वर्टिकल गार्डेन बढ़ाने पर फोकस करना चाहिए। शहरों को WHO की गाइडलाइन का पालन करने की जरूरत है।

सेहतमंद रहने के लिए हरियाली के दायरे में रहना जरूरी
लैंसेट प्लेनेटरी जर्नरल में पब्लिश यह रिसर्च कहती है, अगर आप ग्रीन बेल्ट के एक तय दायरे में नहीं रहते तो आपको इसके फायदे नहीं मिलते हैं। इसलिए पेड़-पौधों से 300 मीटर के दायरे में आपका घर या ऑफिस होना चाहिए।

खबरें और भी हैं...