पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Happylife
  • Evenings May Be The Best Time To Exercise For Overweight People On A High fat Diet Say Study

ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों का दावा:मोटापे से परेशान हैं तो शाम को एक्सरसाइज करें, ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल का लेवल कंट्रोल में रहेगा; मेटाबॉलिक हेल्थ में भी सुधार होगा

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मोटापे से परेशान हैं और कोलेस्ट्रॉल व ब्लड शुगर लेवल कम करना चाहते हैं तो एक्सरसाइज के लिए शाम का समय चुन सकते हैं। शाम को एक्सरसाइज करने पर कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है।

यह दावा ऑस्ट्रेलियन कैथोलिक यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अपनी रिसर्च में किया है। शोधकर्ताओं का कहना है, रिसर्च के दौरान यह पाया कि जो लोग ओवरवेट हैं और अधिक फैट वाली डाइट ले रहे हैं उनमें टाइप-2 डायबिटीज का खतरा है। ऐसे लोग अगर शाम के समय एक्सरसाइज करते हैं तो उनकी मेटाबॉलिक हेल्थ में सुधार होता है।

डायबिटोलॉजिया जर्नल में पब्लिश रिसर्च कहती है, यह स्टडी खासतौर पर उन लोगों के अहम है जो डायबिटीज से परेशान हैं और अक्सर उन्हें ब्लड शुगर कंट्रोल करने में दिक्कत होती है।

ऐसे हुई स्टडी

  • रिसर्च में 24 ऐसे लोगों को शामिल किया गया जिन्होंने लगातार पिछले 11 दिनों तक अधिक फैट वाली डाइट ली।
  • इनकी फिटनेस, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर के लेवल को जांचा गया। इनसे इनकी खानपान की आदतें भी पूछी गईं।
  • रिसर्च में शामिल लोगों की उम्र 30 से 45 के बीच थी। इनका बॉडी मास इंडेक्स 27 से 35 के बीच था।
  • इन लोगों को तीन समूहों में बांटा गया। पहले समूह ने सुबह 6.30 बजे एक्सरसाइज की। दूसरे ने शाम को 6.30 बजे एक्सरसाइज की।
  • तीसरा समूह ऐसा था जिसने न तो सुबह एक्सरसाइज की और न शाम को।
  • रिसर्च के पांचवे दिन शाम को एक्सरसाइज करने वाले लोगों में ग्लूकोज, इंसुलिन, कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड के लेवल घटा हुआ पाया गया।

इसलिए बेहतर है शाम की एक्सरसाइज
शोधकर्ता डॉ. मोहोल्ड के मुताबिक, रिसर्च के दौरान हमने पाया है कि सुबह और शाम को एक्सरसाइज करने के फायदे एक जैसे होते हैं। यह हार्ट और सांस के लिए फायदेमंद है, लेकिन जब रात में ब्लड शुगर कंट्रोल करने की बात आती है तो शाम की एक्सरसाइज ज्यादा बेहतर है।

एक्सरसाइज का यह समय हाई फैट लेने वालों के लिए
रिसर्च के मुताबिक, एक्सरसाइज करने का यह समय सिर्फ ऐसे लोगों के लिए फायदेमंद है जो खानपान में अधिक फैट वाली चीजें लेते हैं। रिसर्च में भी सिर्फ मोटापे से परेशान लोग ही शामिल किए गए हैं। इसलिए यह तरीका सभी पर अप्लाय नहीं किया जा सकता।

खबरें और भी हैं...