गहरी नींद के लिए मुंह पर टेप लगाएं:इससे खर्राटों और बीमारियों का खतरा कम होता है

11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका में 68% लोग नींद की परेशानी से गुजर रहे हैं। हाल ही में हुए एक प्रयोग में सामने आया कि सोते समय मुंह पर टेप लगाकर सोने से गहरी नींद आती है, क्योंकि इस दौरान लोग नाक से सांस लेते हैं। इससे खर्राटे लेने से राहत मिलती है। वहीं संक्रमण का जोखिम भी कम होने का दावा किया गया है।

दरअसल, मुंह खोलकर सोने से बदबूदार सांस, कर्कश आवाज और होंठ फटने का खतरा होता है। स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के एन कीअर्नी के अनुसार प्रयोग में सामने आया कि नाक से सांस लेने से हवा छन जाती है। ये फेफड़ों को सक्रिय कर देती है। इससे गहरी और पूरी सांस ले पाते हैं, शरीर को आराम मिलता है।

नाक से सांस लेना बीमारियों से बचाता है

मुंह पर टेप लगाकर सोने के फायदे को जानने के लिए किए गए अध्ययन में सामने आया कि 20 में से 13 लोगों को पहले के मुकाबले कम खर्राटे आए। 30 लोगों पर किए गए एक अन्य शोध में ‘स्लीप अप्निया’(सोते समय सांस रुक जाती है और नींद टूट जाती है) बीमारी वालों में मुंह पर टेप लगाकर सोने से ऐसे लोगों को कम खर्राटे आए।

नींद विशेषज्ञ डॉ. मार्री होर्वट कहते हैं कि इससे रेत के कण, एलर्जी और रोग कारक तत्व अंदर नहीं जा पाते और शरीर संक्रमण से बच जाता है। नाक से सांस लेने पर शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड नामक गैस बनती है जो रक्तचाप कम करने और रक्त प्रवाह नियमित करने में मदद करती है।

नाक से सांस लेने में समस्या हो तो न लगाएं मुंह पर टेप

विशेषज्ञों के अनुसार नाक से सांस लेने में कठिनाई होने पर मुंह पर टेप लगाकर नहीं साेना चाहिए। साथ ही ऐसे टेप का इस्तेमाल करना चाहिए जो आसानी से छूट जाए जैसे- सर्जिकल टेप। पहले दिन दस मिनट टेप लगाएं और समय बढ़ाते जाएं। टेप की आदत पड़ने पर ही रात में मुंह पर टेप लगाकर सोएं।

खबरें और भी हैं...