• Hindi News
  • Happylife
  • Kapiva 100% Pure 'Himalayan Shilajit', Which Enhances Sexual Potency, Brought From The Himalayas 18,000 Feet High

फीचर आर्टिकल:कपिवा 18,000 फीट ऊंचे हिमालय से लाता है 100% शुद्ध 'हिमालयन शिलाजीत'

17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कपिवा एकेडमी ऑफ आयुर्वेद के विशेषज्ञों का कहना है कि नियमित रूप से शिलाजीत का सेवन टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाता है। - Dainik Bhaskar
कपिवा एकेडमी ऑफ आयुर्वेद के विशेषज्ञों का कहना है कि नियमित रूप से शिलाजीत का सेवन टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाता है।

शिलाजीत एक गाढ़ा भूरे रंग का, चिपचिपा पदार्थ है जो मुख्य रूप से हिमालय की चट्टानों में पाया जाता है। भारतीय आयुर्वेद में शिलाजीत कोे शक्तिवर्धक, ओजवर्द्धक, दुर्बलता दूर करने वाले और वीर्य बढ़ाने वाला बताया गया है। इसे पहाड़ों का पसीना और इंडियन वियाग्रा भी कहा जाता है। शिलाजीत कम टेस्टोस्टेरोन, भूलने की बीमारी, थकावट, खून की कमी, पुरुष प्रजनन क्षमता में कमी और हार्ट के लिए फायदेमंद है ।

रिसर्च और साइंस बेस्‍ड मॉडर्न आयुर्वेदिक ब्रांड कपिवा आपके लिए शुद्ध शिलाजीत लाया है, जो हिमालय की ऊंचाई में पाया जाता है। यह यौन शक्ति बढ़ाने, थकान-सुस्ती दूर करने और स्टेमिना बेहतर करने में मददगार है।

शुद्धता के परीक्षण पर खरा
शिलाजीत हिमालय से 18,000 फीट की ऊंचाई से प्राप्त किया जाता है, क्योंकि यह सबसे शुद्ध रूप माना जाता है। कपिवा की टीम शुद्धता और सुरक्षा का वादा करती है। कपिवा में शिलाजीत को भारी धातुओं से मुक्त और कंज्यूम करने के लिए सुरक्षित बनाने के लिए शोधन नाम की एक कठोर शुद्धिकरण प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा, कपिवा हिमालय शिलाजीत के हर एक बैच का लैब-टेस्‍ट किया जाता है और इसे मेटल फ्री दिखाने वाली एक रिपोर्ट के साथ पेश किया जाता है। कपिवा शिलाजीत मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य दोनों के लिए फायदेमंद है।

सेक्‍स पावर को बढ़ाता है शिलाजीत
आत्मविश्वास से भरे जीवन के लिए, यौन क्षमता की महत्वपूर्ण भूमिका है। कई विशेषज्ञों ने सिद्ध किया है कि एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी के रूप में शिलाजीत यौन क्षमता बढ़ाता है, जिससे आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद मिलती है।

कामसूत्र भी करता है इसकी सिफारिश
प्राचीन भारतीय ग्रंथ कामसूत्र में भी एनर्जी बढ़ाने और यौन प्रदर्शन में सुधार के लिए शिलाजीत का उल्लेख किया गया है।

यह एक प्राकृतिक टेस्टोस्टेरोन बूस्टर है
कपिवा एकेडमी ऑफ आयुर्वेद के विशेषज्ञों का कहना है कि यदि आप नियमित रूप से शिलाजीत का सेवन करते हैं तो यह टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में मदद करेगा। टेस्टोस्टेरोन मानव शरीर का एक महत्वपूर्ण हॉर्मोन है, जो उच्च ऊर्जा के स्तर को बनाए रखने, शारीरिक और मानसिक क्षमता बढ़ाने और मांसपेशियों के निर्माण में मदद करता है। इसे अपनी रोज की डाइट में शामिल करना जरूरी है।

फुल्विक एसिड से भरपूर
कपिवा एकेडमी ऑफ आयुर्वेद के विशेषज्ञों का कहना है कि कपिवा हिमालयन शिलाजीत में 60% से ज्‍यादा फुल्विक एसिड होता है। यह इसे बहुत शक्तिशाली ऊर्जा अनुकूलक बनाता है। शिलाजीत में उच्च ऑक्सिजन सामग्री होती है और इसका इस्तेमाल व्यायाम के नकारात्मक प्रभावों जैसे सांस न ले पाना, मांसपेशियों में दर्द आदि को कम करने के लिए किया जाता है। कपिवा के शिलाजीत में 80 से ज्यादा ट्रेस खनिज जैसे पोटेशियम और मैग्नीशियम मौजूद हैं, जो ताकत और जीवन शक्ति बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

वैज्ञानिक रूप से सिद्ध
इंटरनेशनल जर्नल ऑफ आयुर्वेदिक रिसर्च की एक रिपोर्ट के अनुसार, फुल्विक एसिड ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाने के लिए सिद्ध हुआ है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि फुल्विक एसिड पोषक तत्वों को अंदर के ऊतकों में ले जाने का काम करता है और थकान, सुस्ती और अत्यधिक थकावट की समस्‍या (क्रॉनिक फटीग) को दूर करने में मदद करता है। फुल्विक एसिड का एक समृद्ध स्रोत होने के नाते आपको अपनी जीवन शैली में शिलाजीत को शामिल करने पर विचार करना चाहिए।

एनर्जी से तुरंत भरे
इसमें जरा भी शक नहीं कि एक उत्पाद के रूप में शिलाजीत जीवन बदलने वाली जड़ी-बूटी साबित हुई है। यह यौन क्षमता को उत्तेजित करता है, शरीर में मांसपेशियों के निर्माण में मदद करता है और ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। यदि आप शिलाजीत को अपनी डेली डाइट में शामिल करने के लिए तैयार हैं, तो यहां कपिवा हिमालयन शिलाजीत के बारे में जरूर चेक करें।

क्‍या जिम सप्‍लीमेंट के रूप में शिलाजीत का इस्तेमाल हो सकता है?
शिलाजीत के कई फायदे हैं, जिसमें से एक ताकत और क्षमता को बढ़ावा देना है। जो लोग भारी वजन के साथ जिम में कसरत करते हैं, उन्हें ताकत और सहनशक्ति की जरूरत होती है। इस मामले में भी शिलाजीत काम आता है। कपिवा एकेडमी ऑफ आयुर्वेद के विशेषज्ञों के मुताबिक शिलाजीत एक रसायन औषधि है, जो प्रत्येक कोशिका को समय के साथ फिर से जीवित करती है, जिससे धीरे-धीरे ऊर्जा का निर्माण होता है। यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी शरीर में उच्च टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाकर वर्कआउट इंड्योरेंस को बढ़ाती है, जिससे मांसपेशियों में ताकत आती है और जिम में प्रदर्शन अच्‍छा होता है।

प्रसिद्ध फिटनेस कंसल्टेंट अंकुर तिवारी कपिवा के हिमालयन शिलाजीत का नियमित सेवन करते हैं। अंकुर ने कपिवा की रिसर्च और डेवलपमेंट हेड डॉ. कृति सोनी के साथ बातचीत में बताया कि किस प्रकार सदियों से शिलाजीत ताकत बढ़ाने के लिए उपयोग हो रहा है और इसका उल्लेख प्राचीन ग्रंथों में भी किया गया है। एलोपैथिक दवाओं के विपरीत शिलाजीत का असर दिखने में थोड़ा समय लगता है और यह शरीर में टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने का एक प्राकृतिक तरीका है। अंकुर दावा करते हैं कि शिलाजीत के नियमित सेवन से उन्हें पूरे दिन भरपूर एनर्जी मिलती है और उनकी यौन क्षमता में भी बढ़ोतरी हुई है।