• Hindi News
  • Happylife
  • Transition of corona to a mother born triplets in Mexico did not spread to mother and father

कोरोना का अनोखा केस / मेक्सिको में जन्में 3 कोरोना पॉजिटिव बच्चों के पैरेंट्स नेगेटिव निकले, डॉक्टर समझ नहीं पा रहे कि कहां से आया वायरस

मेक्सिको के सेन लुइस पोटोसी शहर में सोमवार को एक मां ने तीन नवजातों को जन्म दिया था। प्रतीकात्मक तस्वीर मेक्सिको के सेन लुइस पोटोसी शहर में सोमवार को एक मां ने तीन नवजातों को जन्म दिया था। प्रतीकात्मक तस्वीर
X
मेक्सिको के सेन लुइस पोटोसी शहर में सोमवार को एक मां ने तीन नवजातों को जन्म दिया था। प्रतीकात्मक तस्वीरमेक्सिको के सेन लुइस पोटोसी शहर में सोमवार को एक मां ने तीन नवजातों को जन्म दिया था। प्रतीकात्मक तस्वीर

  • मेक्सिको के सेन लुइस पोटोसी शहर में एक मां ने तीन नवजातों को जन्म दिया था, जिनमें दो लड़के और एक लड़की थी
  • नवजातों के जन्म के समय आशंका जताई गई थी कि इनमें संक्रमण एसिम्प्टोमैटिक यानी बिना लक्षणों वाली मां से फैला

दैनिक भास्कर

Jun 25, 2020, 06:36 PM IST

मेक्सिको में 17 जून को जन्मे ट्रिपलेट्स (एक साथ जन्मे तीन बच्चे) कोरोना पॉजिटिव मिले थे। जन्म से बाद से यह पता लगाने की कोशिश की जा रही थी कि नवजातों में कोरोना का संक्रमण मां से हुआ या जन्म के बाद कहीं और से फैला।

जांच कर रहे स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि नवजात में संक्रमण मां और पिता से नहीं फैला क्योंकि दोनों की रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आई। नवजातों के जन्म के समय यह आशंका जताई गई थी इनमें कोरोना का संक्रमण एसिम्प्टोमैटिक मां से फैला, लेकिन जांच में इसकी पुष्टि नहीं हुई।

जन्म के 4 घंटे बाद हुई थी नवजातों की जांच

मेक्सिको के सेन लुइस पोटोसी शहर में एक मां ने तीन नवजातों को जन्म दिया था। जिनमें दो लड़के और एक लड़की थी। स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, जन्म के 4 घंटे के बाद नवजातों की जांच की गई तो रिपोर्ट पॉजिटव आई। नवजातों की प्री-मैच्योर डिलीवरी साढ़े सात महीने में हुई थी। 

तीन में एक नवजात को निमोनिया हुआ

राज्य की स्वास्थ्य सचिव मोनिका रांगेल ने कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया, नवजातों के माता-पिता की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद हमारा ध्यान इस मामले की ओर और बढ़ गया है। विशेषज्ञ इस मामले की जांच कर रहे हैं। तीन में से दो नवजात स्वस्थ हैं और तीसरे को निमोनिया हुआ है लेकिन अब उसकी हालत स्थिर है।

गर्भनाल से वायरस नवजात मेंं पहुंचने का मामला सामने आ चुका है

अमेरिका के येल स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं के मुताबिक, गर्भनाल से कोरोना का संक्रमण फैलने का मामला भी सामने आ चुका है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, नवजात में कोरोना का संक्रमण तब हो सकता है अगर डिलीवरी के बाद वह किसी संक्रमित इंसान के सम्पर्क में आया हो। इसके अलावा कोरोना से संक्रमित मां की कोख से गर्भनाल के जरिए वायरस नवजात तक पहुंच सकता है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना