• Hindi News
  • Happylife
  • Monkeypox Transmission: Monkeypox Virus Disease Likely Spread By Sex In Europe

गे सेक्स से फैला मंकीपॉक्स:WHO ने कहा- समलैंगिक पुरुषों में संक्रमण की ज्यादा आशंका, अब तक 15 देशों में पहुंची बीमारी

3 महीने पहले

मंकीपॉक्स के 15 देशों में 100 से ज्यादा मामले सामने आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक बड़ा दावा किया है। हेल्थ एजेंसी का कहना है कि यूरोप में हाल ही में हुए बड़े सोशल इवेंट्स में सेक्शुअल कॉन्टैक्ट के जरिए यह बीमारी समलैंगिक पुरुषों में फैलने की आशंका है।

रेव पार्टी से फैला मंकीपॉक्स

रेव पार्टी एक ऐसा इवेंट होता है जहां नाच-गाने, खाने-पीने के साथ ड्रग्स और सेक्स का भी इंतजाम होता है।
रेव पार्टी एक ऐसा इवेंट होता है जहां नाच-गाने, खाने-पीने के साथ ड्रग्स और सेक्स का भी इंतजाम होता है।

WHO के एडवाइजर डॉ डेविड हेमैन ने न्यूज एजेंसी AP से बातचीत में बताया कि समलैंगिक पुरुषों में मंकीपॉक्स के संक्रमण फैलने की वजह स्पेन और बेल्जियम में हुई दो रेव पार्टीज हो सकती हैं। रेव पार्टी एक ऐसा इवेंट होता है जहां नाच-गाने और खाने-पीने के साथ ड्रग्स और सेक्स का भी इंतजाम होता है।

उधर, स्पेन की राजधानी मैड्रिड में सीनियर हेल्थ ऑफिशियल एनरिक रुइज एस्कुडेरो का कहना है कि हाल ही में हुए एक गे प्राइड इवेंट के बाद अब तक मंकीपॉक्स के 30 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इस इवेंट में करीब 80,000 लोगों ने हिस्सा लिया था। इसलिए अधिकारी मंकीपॉक्स और इवेंट के कनेक्शन की जांच कर रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले अफ्रीका के अलावा इतने बड़े लेवल पर मंकीपॉक्स का आउटब्रेक कहीं नहीं हुआ है। इसे देखते हुए WHO ने चेतावनी दी है कि किसी भी देश में इस बीमारी का एक मामला भी आउटब्रेक माना जाएगा।

यह भी पढ़ें: मंकीपॉक्स के लक्षण मिलने पर बेल्जियम-ब्रिटेन में क्वारैंटाइन जरूरी; मुंबई में भी संदिग्ध मरीज आइसोलेट होंगे

मंकीपॉक्स का मरीज संक्रमण के 4 हफ्तों तक किसी व्यक्ति को इन्फेक्ट करने में सक्षम होता है।
मंकीपॉक्स का मरीज संक्रमण के 4 हफ्तों तक किसी व्यक्ति को इन्फेक्ट करने में सक्षम होता है।

मंकीपॉक्स सेक्स से फैला, लेकिन यह STD नहीं

मंकीपॉक्स का वायरस आंख, नाक और मुंह के जरिए फैल सकता है। यह मरीज के कपड़े, बर्तन और बिस्तर को छूने से भी फैलता है। इसके अलावा बंदर, चूहे, गिलहरी जैसे जानवरों के काटने से या उनके खून और बॉडी फ्लुइड्स को छूने से भी मंकीपॉक्स फैल सकता है। एक मरीज संक्रमण के 4 हफ्तों तक किसी व्यक्ति को इन्फेक्ट करने में सक्षम होता है।

WHO के एडवाइजर एंडी सील ने CNBC से बातचीत में कहा कि मंकीपॉक्स एक यौन रोग यानी सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिसीज (STD) नहीं है। इसका मतलब कि यह सीमेन या वजाइनल फ्लुइड्स के जरिए नहीं फैलता है। हालांकि, सेक्स के दौरान संक्रमित व्यक्ति के करीब जाने से इस बीमारी के फैलने की संभावना बढ़ जाती है। उदाहरण के लिए, सर्दी-जुकाम STD नहीं है, लेकिन यह सेक्शुअल कॉन्टैक्ट से फैल सकता है।

यह भी पढ़ें: यूरोप और नॉर्थ अमेरिका के बाद ऑस्ट्रेलिया में अलर्ट; भारत को कितना खतरा, जानिए मंकीपॉक्स से जुड़ी 10 बड़ी बातें..

स्पेन और पुर्तगाल के अधिकारियों के अनुसार, यहां सेक्शुअल हेल्थ चेकअप कराने आ रहे समलैंगिक पुरुषों में संक्रमण के पुष्टि हो रही है।
स्पेन और पुर्तगाल के अधिकारियों के अनुसार, यहां सेक्शुअल हेल्थ चेकअप कराने आ रहे समलैंगिक पुरुषों में संक्रमण के पुष्टि हो रही है।

यूरोप में कई समलैंगिक पुरुष बीमार

फिलहाल ब्रिटेन और यूरोप में आ रहे ज्यादातर मामलों में ऐसे गे या बायसेक्शुअल पुरुषों को मंकीपॉक्स हो रहा है, जो युवा हैं और जिनका अफ्रीकी देशों से कोई लेना-देना नहीं है। स्पेन और पुर्तगाल के अधिकारियों के अनुसार, यहां सेक्शुअल हेल्थ चेकअप कराने आ रहे समलैंगिक पुरुषों में संक्रमण के पुष्टि हो रही है। वहीं, ब्रिटेन के डॉक्टर्स का मानना है कि अभी रोजाना मंकीपॉक्स के और मामले सामने आने की उम्मीद है।

फिलहाल ब्रिटेन, अमेरिका, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, पुर्तगाल, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, बेल्जियम, नीदरलैंड्स, इजराइल, ऑस्ट्रिया और स्विट्जरलैंड में मंकीपॉक्स के केस सामने आए हैं।

मंकीपॉक्स की वैक्सीन के लिए प्री क्लीनिकल ट्रायल शुरू किए
मंकीपॉक्स के दुनिया में बढ़ते मामलों को देखते हुए अमेरिकी फार्मास्युटिकल कंपनी मॉडर्ना ने मंकीपॉक्स की वैक्सीन के लिए प्री क्लीनिकल ट्रायल शुरू कर दिए हैं। मंकीपॉक्स एक जूनोटिक वायरस है जो जानवरों में फैलता है।