पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Happylife
  • New Sustainable Roofing Material Can Naturally Keep Buildings Cool Without Airconditioner

अमेरिकी वैज्ञानिकों का प्रयोग:वैज्ञानिकों ने बनाया बिना एसी के घर ठंडा रखने वाला 'कूलिंग पेपर', इससे कवर हुई बिल्डिंग्स और घरों को नहीं होगी कूलिंग सिस्टम की जरूरत

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बॉस्टन की नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने तैयार किया कूलिंग पेपर

अमेरिकी वैज्ञानिकों ने ऐसा खास तरह का पेपर तैयार किया है। यह बिना एसी के घर को ठंडा रखने का काम करेगा। वैज्ञानिकों ने इसे 'कूलिंग पेपर' का नाम दिया है। इसे तैयार करने वाली नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का दावा है, कूलिंग पेपर से घर और बिल्डिंग कवर की जाएगी। ऐसी बिल्डिंग्स और घरों को ठंडा रखने के लिए किसी कूलिंग सिस्टम की जरूरत नहीं होगी।

ऐसे काम करता है कूलिंग पेपर
शोधकर्ता यी झेंग कहते हैं, कूलिंग पेपर का रंग हल्का होता है। यह घरों पर पड़ने वाली सूरज की तेज किरणों को परावर्तित करता है। इसके अलावा यह घर और बिल्डिंग के अंदर इलेक्ट्रॉनिक्स गैजेट, कुकिंग और शरीर की गर्मी को खींचते हैं। फिर इस गर्मी को घर और बिल्डिंग के बाहर ट्रांसफर करता है।

झेंग कहते हैं, यह खास तरह का पेपर है जिसमें बेहद बरीक छिद्र हैं। यह माइक्रोफायबर से बना है जो गर्मी को एब्जॉर्ब करके माहौल को ठंडा रखता है।

यूं आया कूलिंग पेपर बनाने का आइडिया
झेंग कहते हैं, कूलिंग पेपर बनाने का आइडिया तब आया जब उन्होंने एक बाल्टी में कई सारे प्रिंटिंग पेपर पड़े देखे। तभी वेस्ट मैटेरियल से नई खोज करने की ठानी।

झेंग ने सभी पेपर्स को ब्लेंडर से पीसने के बाद उसका पेस्ट तैयार किया। इस पेस्ट से तैयार पेपर का प्रयोग घरों पर एक लेयर चढ़ाने में किया। यह पेपर घरों को कितना ठंडा रखता है, इसके लिए अलग-अलग तापमान पर पेपर की क्षमता का ट्रायल किया गया।

10 डिग्री तक घटा सकता है तापमान
ट्रायल के दौरान वैज्ञानिकों की टीम ने पाया कि कूलिंग पेपर की मदद से कमरे का तापमान 10 डिग्री तक घटाया जा सकता है। शोधकर्ताओं का कहना है, कूलिंग पेपर इको-फ्रेंडली है। इसे रिसायकल भी किया जा सकता है। इससे मौसम के असर, तापमान और सोलर रेडिएशन से भी बचा जा सकता है।

खास बात है कि रिसायकल करने के बाद फिर से बना कूलिंग पेपर ऑरिजनल जितना असरदार रहता है।

खबरें और भी हैं...