पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Happylife
  • Over 7 Lakh Yearly Deaths In India Linked To Abnormal Temperatures Says Lancet Study

लैंसेट जर्नल की रिपोर्ट:गर्मी नहीं, देश में हर साल सबसे ज्यादा मौतें सर्दी से होती हैं, तापमान में गड़बड़ी से प्रतिवर्ष 7 लाख से अधिक लोग दम तोड़ देते हैं

13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

देश में हर साल होने वाली 7 लाख 40 हजार मौतों की वजह तापमान है। ये मौतें या तो अधिक गर्म तापमान के कारण हो रही हैं या इसकी वजह ठंडा तापमान है। लैंसेट जर्नल की रिपोर्ट कहती है, ठंडे तापमान के कारण भारत में हर साल 6,55,400 मौते होती हैं। वहीं, गर्मी के कारण 83,700 लोग दम तोड़ देते हैं। रिपोर्ट कहती है, इन मौतों की एक वजह जलवायु परिवर्तन है।

सर्दी ने शरीर को तोड़ा
रिसर्च करने वाली ऑस्ट्रेलिया की मोनाश यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है, दुनियाभर में हर साल 50 लाख से अधिक अतिरिक्त मौतों की वजह घटता-बढ़ता तापमान है। 2000 से 2019 तक दुनियाभर में गर्मी के कारण मौतों का आंकड़ा बढ़ा है। पिछले 9 सालों में दुनिया के औसतन तापमान में 0.26 डिसे की बढ़ोतरी हुई है।

आमतौर पर लोग यह मानते हैं गर्मियों में अधिक तापमान से होने वाली मौतों की संख्या ज्यादा होती है, लेकिन लैंसेट जर्नल की रिपोर्ट चौंकाती है। रिपोर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में सर्दी के कारण मौतें अधिक हुई हैं। हर 1 लाख पर 74 अतिरिक्त मौतें की वजह अधिक ठंडा तापमान रहा है।

इस साल कैलिफोर्निया के डेथ वैली में तापमान 54 डिसे. के आंकड़े को पार कर चुका है।
इस साल कैलिफोर्निया के डेथ वैली में तापमान 54 डिसे. के आंकड़े को पार कर चुका है।

ग्लोबल वॉर्मिंग मौतों का आंकड़ा घटा भी सकती है
तेज गर्मी से बढ़ते मौत के आंकड़े की एक वजह ग्लोबल वॉर्मिंग भी है, लेकिन फिर भी दम तोड़ते लोगों की संख्या में कमी आ सकती है। मोनाश यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर यूमिंग गुओ कहते हैं, ग्लोबल वॉर्मिंग के कारण अधिक सर्दी से होने वाली मौतों की संख्या में कमी आ सकती है। लेकिन लम्बे समय की बात करें तो ग्लोबल वॉर्मिँग से मौतें बढ़ेंगी क्योंकि दुनिया का तापमान बढ़ने की आशंका ज्यादा है।

50 फीसदी से अधिक मौतें दक्षिण-पूर्व एशिया में
रिपोर्ट के मुताबिक, घटते-बढ़ते तापमान के कारण जितनी मौतें हुई हैं, उनमें 50 फीसदी से अधिक एशिया (ईस्ट, साउथ) में हुई हैं। तेज गर्मी के कारण सबसे ज्यादा मौतें यूरोप और ठंड के कारण सबसे ज्यादा मौतें सब-सहारा अफ्रीका में हुईं।

शोधकर्ताओं के मुताबिक, इन आंकड़ों की मदद से यह समझने की कोशिश की गई है कि जलवायु परिवर्तन के कारण दुनियाभर में बढ़ते-घटते तापमान का क्या असर हो रहा है।

2020 में जारी हुई मौसम विभाग की रिपोर्ट कहती है, भारत में 1901 के बाद पिछले 120 सालों में 2020 8वां सबसे गर्म साल साबित हुआ।

खबरें और भी हैं...